Covid-19 Update

2,06,832
मामले (हिमाचल)
2,01,773
मरीज ठीक हुए
3,511
मौत
31,810,782
मामले (भारत)
201,005,476
मामले (दुनिया)
×

आदेशों की अवहेलना पर 108 एंबुलेंस कर्मी कोर्ट में तलब

आदेशों की अवहेलना पर 108 एंबुलेंस कर्मी कोर्ट में तलब

- Advertisement -

शिमला। हाईकोर्ट ने आदेशों की अवहेलना करने पर 108 में काम करने वाले हड़ताली ड्राइवरों व टेक्नीशियनों के खिलाफ कड़ा संज्ञान लिया है। 108 एंबुलेंस में काम करने वाले हड़ताली ड्राइवरों व टेक्नीशियनों के प्रतिनिधियों को प्रतिवादी बनाते हुए कोर्ट में उपस्थित रहने के आदेश जारी कर दिए हैं। मामले पर सुनवाई शुक्रवार को होगी। कोर्ट ने डीसी व एसपी शिमला को भी सुनवाई के दौरान व्यक्तिगत रूप से हाजिर रहने को कहा है।

सुनवाई के दौरान कोर्ट को बताया गया कि कोर्ट के आदेशों के बावजूद भी ड्राइवर व टेक्नीशियन काम पर नहीं लौटे हैं। कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश संजय करोल व न्यायाधीश संदीप शर्मा की खंडपीठ ने जिला दंडाधिकारी को भी शपथ पत्र दायर करने को कहा है और पूछा है कि कोर्ट के आदेशों को लागू करने के लिए उनके द्वारा क्या कदम उठाए हैं।


ड्राइवरों व टेक्नीशियनों का हड़ताल पर जाना कानून की नजर में गलत

हाइकोर्ट ने एक दैनिक समाचार पत्र में छपी खबर पर संज्ञान लेते हुए यह आदेश पारित किए, जिसमें कि यह बताया गया है कि 108 में कार्य करने वाले ड्राइवर व टेक्नीशियन हड़ताल पर जा रहे हैं। प्रदेश उच्च न्यायालय ने अपने आदेशों में यह स्पष्ट किया कि था ड्राइवरों व टेक्नीशियनों द्वारा हड़ताल पर जाने का फैसला कानून की नजर में बिल्कुल गलत है और हड़ताल पर तुरंत प्रभाव से रोक लगा दी थी। न्यायालय ने कहा था कि जीवीके इमरजेंसी मैनेजमेंट एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट को विशेषता 108 एंबुलेंस जैसी आवश्यक सेवाओं को उपलब्ध करवाने हेतु तैनात किया गया है।

हड़ताल के दौरान दूरदराज के क्षेत्रों से आने वाले मरीजों को भारी मुश्किल का सामना करना पड़ता है। अगर ड्राइवरों और टेक्नीशियनों की मांगों को नहीं माना जाता है तो उसके लिए हड़ताल के अलावा कानून ने उनके लिए दूसरे विकल्प निर्धारित किए हैं। महाधिवक्ता की ओर से न्यायालय को बताया गया था कि इन लोगों के खिलाफ सरकार द्वारा पहले ही ऐस्मा लगा दिया गया है फिर भी ये लोग हड़ताल पर चले गए हैं। न्यायालय ने आदेश दिए हैं कि उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाए जो लोग हड़ताल पर चले गए हैं। कोर्ट ने यह भी स्पष्ट किया था कि उन सभी लोगों के खिलाफ अवमानना का मामला चलाया जाएगा, जो लोग न्यायालय के आदेशों की अवहेलना करेंगे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है