Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,973,457
मामले (भारत)
179,548,206
मामले (दुनिया)
×

प्रयास : गानों से पहाड़ी संस्कृति बचाने की पहल

प्रयास : गानों से पहाड़ी संस्कृति बचाने की पहल

- Advertisement -

वी कुमार/मंडी। हिमाचली संस्कृति को बचाने के लिए गायक भी अपने स्तर पर जुट गए हैं। हिमाचली संगीतकार एसडी कश्यप पिछले पच्चीस साल से संस्कृति को बचाने के लिए काम कर रहे है और इसी कार्य को आगे बढ़ाते हुए जंजैहली के लोकगायक लीलाधर चौहान ने भी मोर्चा संभाल लिया है। लोकगायक लीलाधर चौहान ने बताया कि उन्होंने इस साल दो नए गीत साउंड ऑफ मांउन्टेन स्टूडियो पनारसा में रिकार्ड किए हैं, जिसमें हिमाचल के प्रसिद्ध संगीतकार एसडी कश्यप ने संगीतवद्ध किया है और सहयोगी संगीतकार तेजेन्द्र नेगी ने भी संगीत दिया है। एक कुण बुझला दिले री दाह, जो हिमाचल के कूल्लू जिला की संस्कृति पर विषेश रूप से बनाया गया तथा दूसरा गीत बेटी है अनमोल पर, तुमसे क्या मांगें बिटिया, बनाया है जिन्हें कुछ ही दिनों में रिलीज किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि पहाड़ का प्राकृतिक सौंदर्य कल-कल बहती जलधाराएं बाद्य यन्त्रों संग निकलती सुरलहरियां, मेले-त्योहार हिमाचल प्रदेश की सांस्कृतिक विरासत है। 

पहाड़ी संगीत मेलों-त्योहारों की जान

पहाड़ों में गूंजता संगीत पहाड़ के मेलों त्योहारों की जान है। यही वजह है कि फिल्मी दुनिया से लेकर विदेशी मंच तक हिमाचली संगीत खूब धूम मचा रहा है। वहीं, प्रदेश के मशहूर लोक गायक ठाकुर दास राठी, कुलदीप शर्मा, किशन वर्मा, कला चौहान सहित दर्जनों कलाकारों का भी यही कहना है कि बाहर से आए कलाकारों की अपेक्षा स्थानीय कलाकारों को अवसर प्रदान किए जाने चाहिए। मंडी जिला के सराज क्षेत्र के उपमंडल जंजैहली के हिमाचली लोक गायक लीलाधर चौहान ने जिलाधीश मंडी, सीएम, भाषा एवं कला संस्कृति विभाग को पत्र लिखकर गुहार की है कि हिमाचल प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में मनाए जाने वाले विभिन्न मेलों में स्थानीय हिमाचली कलाकारों को प्राथमिकता दिए जाने की मांग की है, ताकि पहाड़ का हुनर दम तोड़ने की बजाय शिखर की ओर बढ़े।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है