Covid-19 Update

2,18,523
मामले (हिमाचल)
2,13,124
मरीज ठीक हुए
3,653
मौत
33,694,940
मामले (भारत)
232,779,878
मामले (दुनिया)

प. बंगाल और ओडिशा में ‘Amfan’ ने मचाई तबाही, 12 की गई जान, हजारों मकान नष्ट

प. बंगाल और ओडिशा में ‘Amfan’ ने मचाई तबाही, 12 की गई जान, हजारों मकान नष्ट

- Advertisement -

कोलकाता। बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा में भारी तबाही मचाई है। चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ (Amfan) करीब 190 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से पश्चिम बंगाल के दीघा और बांग्लादेश (Bangladesh) के हटिया द्वीप के बीच जमीन से टकराया। तूफान के जमीन से टकराने की प्रक्रिया करीब चार घंटे चली और इस दौरान तटीय इलाकों में 160 ये 170 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से तूफान चला। तूफान के कारण पश्चिम बंगाल और ओडिशा (West Bengal and Odisha) में अब तक 12 लोगों की मौत हो गई, हजारों मकान नष्ट हो गए और निचले इलाकों में पानी भर गया।

20 वर्ष में पूर्वी तट से टकराने वाला दूसरा सबसे शक्तिशाली तूफान

तूफान की रफ्तार (Speed ​​of storm) जब तक थमी, कोलकाता में सबकुछ उलट-पुलट हो चुका था। शहर में चारों तरफ पानी भर चुका था। गाड़ियां नावों की तरह तैर रही थी। सड़कों पर पेड़ उखड़े पड़े थे। बड़े बड़े होर्डिंग, बिजली के पोल औंधे मुंह गिरे हुए थे। भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक चक्रवाती तूफान अम्फान रिकॉर्ड 18 घंटे में श्रेणी-1 से श्रेणी-5 के सुपर साइक्लोनिक तूफान में बदल गया। अम्फान बीते 20 वर्षों में पूर्वी तट से टकराने वाला दूसरा सबसे शक्तिशाली तूफान है। राहत टीमें टूटे पेड़ों को सड़कों से हटाने में जुटी हैं, लेकिन काम खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा। सड़कों पर पानी भरा होने के चलते राहत काम में और भी मुश्किल आ रही है।

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने लोगों की मौत पर जताया शोक

वहीं, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने चक्रवाती तूफान अम्फान के कारण लोगों की मौत पर शोक जताया और समय रहते लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए पश्चिम बंगाल और ओडिशा के प्रशासन की सराहना की। उपराष्ट्रपति सचिवालय ने उपराष्ट्रपति के हवाले से ट्वीट किया, ‘पश्चिम बंगाल तथा ओडिशा में चक्रवात के कारण हुई जानमाल की क्षति तथा सार्वजनिक और निजी संपत्ति और फसलों को हुए व्यापक नुकसान से व्यथित और चिंतित हूं।’ पश्चिम बंगाल में तूफान से तबाही कितनी हुई इसका हिसाब-किताब अभी बाकी है, लेकिन सीएम ममता बनर्जी का कहना है कि डीएम, एसपी और प्रशासन के अधिकारी जमीनी स्तर पर हैं। अभी नंबर के बारे में सही जानकारी नहीं है, लेकिन 10-12 लोगों की मौत हुई है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है