Expand

13 जातियां केंद्रीय ओबीसी सूची से होंगी बाहर

13 जातियां केंद्रीय ओबीसी सूची से होंगी बाहर

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल की 13 जातियां केंद्रीय ओबीसी सूची से बाहर होंगी। हालांकि प्रदेश सरकार न इन जातियों को राज्य ओबीसी की सूची से हटा दिया है, लेकिन केंद्रीय सूची में अभी तक शामिल हैं। प्राप्त जानकारी के मुताबिक तूरी, भड़भूना, चाहंग, चांगर, धीमार, दइया, कश्यप राजपूत, प्रजापति, कंगेहरा, कंजर, नालबंद, रेचबंद व गुज्जर केंद्रीय सूची में शामिल हैं। इन जातियों को अब केंद्रीय सूची से भी हटा दिया जाएगा। वहीं दूसरी तरफ हिमाचल के शिक्षण संस्थानों में ओबीसी श्रेणी के छात्रों को मिलने वाले आरक्षण पर असमंजस है। हालांकि केंद्रीय शिक्षण संस्थानों में 27 प्रतिशत आरक्षण दिया जा रहा है, लेकिन प्रदेश में इस तरह से कोई कोटा फिक्स नहीं है। सरकारी सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक  केंद्रीय विश्वविद्यालय, एनआईटी हमीरपुर और आईआईटी मंडी में ओबीसी के छात्रों को 27 फीसदी आरक्षण दिया जा रहा है। प्रदेश सरकार वर्तमान में उच्च शिक्षण संस्थानों को छोड़ 12 से 18 फीसदी तक आरक्षण दे रही है। एमबीबीएस कोर्स के लिए अलग-अलग तरीके से कोटा तय हैं। obc1

आईजीएमसी में सिर्फ 4 और टीएमसी में 2 सीटें दी जा रही हैं। हिमाचल तकनीकी विश्वविद्यालय में 18 प्रतिशत, कृषि विश्वविद्यालय पालमपुर में प्रदेश सरकार के अनुदेशानुसार स्नातकोतर विषयों में प्रवेश के लिए बीएससी ऑनर और होम साइंस में ओबीसी के छात्रों को प्रवेश में मात्र एक-एक सीटें ही आरक्षित हैं। वहीं डॉ. वाईएस परमार बगावानी एवं वानिकी विश्वविद्यालय नौणी में प्रबंधन बोर्ड के निर्णय अनुसार हरेक पाठ्यक्रमों में एक-एक सीट आरक्षित है। ओबीसी समुदाय के लोग प्रदेश सरकार से उच्च शिक्षण संस्थानों खास कर एमबीबीएस व प्रदेश के तीनों विश्वविद्यालयों में छात्रों को 12 से 18 प्रतिशत के आधार पर आरक्षण की मांग कर रहे हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है