Covid-19 Update

1,98,901
मामले (हिमाचल)
1,91,709
मरीज ठीक हुए
3,391
मौत
29,570,881
मामले (भारत)
177,058,825
मामले (दुनिया)
×

बारिश के जख्मों पर मरहम-पीडब्ल्यूडी, आईपीएच और बिजली बोर्ड को 15 करोड़ जारी

बारिश के जख्मों पर मरहम-पीडब्ल्यूडी, आईपीएच और बिजली बोर्ड को 15 करोड़ जारी

- Advertisement -

शिमला। सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने आज सभी डीसी (DC) को शिमला से वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग (Video conferencing) के माध्यम से संबोधित करते हुए कहा कि स्थिति से निपटने के लिए चौकसी बरती जाए तथा जरूरतमंद लोगों को तुरन्त सहायता पहुंचाई जाए। उन्होंने कहा कि पिछले दो दिनों से हो रही भारी वर्षा के कारण प्रदेश में 25 लोगों की बहुमूल्य जानें गई हैं और वर्षाऋतु के दौरान राज्य को लगभग 574 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। सीएम ने कहा कि राज्य सरकार ने बहाली कार्यों के लिए पीडब्ल्यूडी (PWD) को 10 करोड़ रुपए, सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग को 4 करोड़ रुपए और हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत् बोर्ड लिमिटेड को एक करोड़ रुपए जारी किए हैं। उन्होंने सभी डीसी को नुकसान का शीघ्र जायज़ा लेकर राज्य सरकार को तुरन्त रिपोर्ट प्रेषित करने के निर्देश दिए हैं।

जय राम ठाकुर ने डीसी शिमला (DC Shimla) को सेब सीजन होने के कारण संबंधित क्षेत्रों की सड़कों की तुरन्त मरम्मत व बहाली के निर्देश दिए हैं, ताकि सेब उत्पादकों को उनके उत्पाद को बाजार तक पहुंचाने में परेशानी न उठानी पड़े। उन्होंने कहा कि जिन पेड़ों को खतरनाक घोषित किया गया है, उन्हें शीघ्र चिन्हित कर कटवा दिया जाए, ताकि किसी भी संभावित खतरे से बचा जा सके। उन्होंने सभी डीसी से जिलों में बिजली, पानी और संचार सुविधाओं के शीघ्र बहाली के भी निर्देश दिए हैं।


यह भी पढ़ें :- चंडीगढ़-मनाली नेशनल हाईवे 43 घंटों के बाद बहाल, दौड़ी गाड़ियां

 


सीएम ने जिला प्रशासन को स्थानीय व पर्यटकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए स्थानीय लोगों तथा पर्यटकों से नदियों से दूर रहने का आग्रह किया, क्योंकि भारी वर्षा के कारण पानी का स्तर बढ़ने की आशंका रहती है। उन्होंने कहा कि कालका-शिमला और पठानकोट-मंडी-मनाली जैसे मुख्य राष्ट्रीय राजमार्गों से मलबा और अवरोधों को शीघ्र हटाया जाए, ताकि यातायात को सुचारू बनाया जा सके।


वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग में यह बोले डीसी

डीसी किन्नौर ने बताया कि पिछले दो दिनों से हो रही भारी वर्षा के कारण जिले में लगभग 8 हजार सेब के पौधे बह गए हैं। डीसी सोलन (DC Solan) ने कहा कि जिले में नालागढ़ उपमंडल के अंतर्गत सबसे अधिक क्षति हुई है। डीसी कांगड़ा (DC Kangra) ने कहा कि जिले में लगभग 250 सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य योजनाओं को भारी वर्षा से नुकसान पहुंचा है, जिनमें से अधिकतर बहाल की जा चुकी हैं और शेष को कल तक बहाल कर दिया जाएगा। डीसी चंबा ने जानकारी दी कि मणिमहेश यात्रा के दौरान सभी एहतियाती कदम उठाए जाएंगे। डीसी बिलासपुर ने सीएम को अवगत करवाया कि पिछले दो दिनों से हो रही वर्षा के कारण जिले में 140 सड़कें प्रभावित हुई हैं और एक व्यक्ति की मृत्यु हुई है। डीसी मंडी ने कहा कि पर्यटकों व आम यात्रियों की सुविधा के लिए मंडी-मनाली उच्च-मार्ग को शीघ्र ही खोल दिया जाएगा। उन्होंने डीसी लाहौल-स्पीति को घाटी में असामयिक बर्फबारी के कारण फसे हुए स्थानीय लोगों और पर्यटकों को शीघ्र सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के निर्देश दिए।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है