Covid-19 Update

2,00,043
मामले (हिमाचल)
1,93,428
मरीज ठीक हुए
3,413
मौत
29,821,028
मामले (भारत)
178,386,378
मामले (दुनिया)
×

धर्मशाला Smart City पर भी यस बैंक प्रकरण का साया, KCCB भी अछूता नहीं

धर्मशाला Smart City पर भी यस बैंक प्रकरण का साया, KCCB भी अछूता नहीं

- Advertisement -

धर्मशाला। वित्तीय संकट से जूझ रहे यस बैंक पर आरबीआई द्वारा शिकंजा कसने के बाद इस बैंक के सभी खाताधारकों की रातों की नींद और दिन का चैन ही उड़ गया है। यही नहीं यस बैंक की धर्मशाला शाखा में धर्मशाला स्मार्ट सिटी परियोजना के 169 करोड़ व प्रदेश के सबसे बड़े सहकारी बैंकों में से एक कांगड़ा सेंट्रल को-ऑपरेटिव (केसीसी) बैंक की 150 करोड़ रुपए की सावधि जमा थी। जब तक यस बैंक वित्तीय संकट के मुद्दे को हल नहीं करता है तब तक इन दोनों संस्थानों का पैसा अटकने की संभावना है और जमाकर्ताओं को अपने पैसे वापस लेने की अनुमति नहीं है। ऐसे में यदि मामला जल्द नहीं सुलझा तो आने वाले समय में स्मार्ट सिटी के तहत चल रहे निर्माण कार्यों में बाधा आ सकती है।

यस बैंक के खाताधारकों को संकट का अनुमान 6 महीने पहले ही लग गया था, जिसके चलते खाताधारकों ने 18,000 करोड़ रुपए निकाल लिए थे। गुजरात के एक इंडस्ट्रियल ग्रुप ने आईबीआई की दखल से एक महीने पहले ही बैंक अपना पैसा निकाल लिया था। मामले की भनक लगते ही वड़ोदरा नगर निगम द्वारा नियंत्रित, वडोदरा स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कंपनी ने पिछले सप्ताह आरबीआई द्वारा निकासी कैप लगाने से एक दिन पहले ही बैंक में जमा 265 करोड़ रुपए निकाल लिए थे, लेकिन हैरानी की बात है कि न तो धर्मशाला स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कंपनी और न ही केसीसी बैंक प्रबंधन ने यस बैंक में जमा राशि को निकलने का प्रयास किया। केसीसी बैंक के प्रबंध निदेशक विनय कुमार ने स्वीकार किया कि सहकारी बैंक में यस बैंक में 150 करोड़ रुपए की सावधि जमा थी। उन्होंने कहा ज्यादातर फिक्स्ड डिपॉजिट जून के महीने में परिपक्व होने हैं और मुझे उम्मीद है कि उस समय तक फंड की निकासी पर प्रतिबंध हट जाएगा।


यह भी पढ़ें :- वित्तीय संकट से जूझ रहे यस बैंक में SBI करेगा 2,450 करोड़ का निवेश


स्मार्ट सिटी का यस बैंक में 2015 से डिपॉजिट

वर्ष 2015 में जब धर्मशाला को स्मार्ट सिटी का दर्जा मिला था, उस समय से ही धर्मशाला के यस बैंक में ही स्मार्ट सिटी के एमडी की ओर से खाता खोलकर स्मार्ट सिटी का बजट डिपॉजिट करवाया गया था। करीब 5 साल तक स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के लिए इसी बैंक से अमाउंट भी रिलीज किया जाता रहा।

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के 169 करोड़ रुपए जमा

यस बैंक में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के 169 करोड़ रुपए जमा हैं। इसके लिए स्मार्ट सिटी के एमडी की ओर से बाकायदा मिनिस्ट्री ऑफ अर्बन डेवलपमेंट के स्मार्ट सिटी बिंग को कार्यालय की ओर से पत्राचार भी कर दिया है, ताकि भविष्य में यस बैंक से फंड की रिलीजिंग को लेकर कोई दिक्कत न आए। स्मार्ट सिटी प्रॉजेक्ट के तहत करोड़ों रुपए के विकास कार्य होने हैं।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है