Covid-19 Update

59,065
मामले (हिमाचल)
57,507
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,210,799
मामले (भारत)
117,078,869
मामले (दुनिया)

हथियार खरीदने को 183 फॉरेस्ट गार्ड ने किया आवेदन

हथियार खरीदने को 183 फॉरेस्ट गार्ड ने किया आवेदन

- Advertisement -

शिमला। वनों की रक्षा करने वाले हमारे फॉरेस्ट गार्ड जल्द ही हथियार से लैस होंगे। हथियार खरीदने के लिए अब तक 183 आवेदन आ चुके हैं। पूर्व की कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में करसोग स्थित कतांडा बीट में वन रक्षक होशियार सिंह की हुई हत्या के बाद वन रक्षकों को हथियार देने का प्रस्ताव तैयार किया था। सत्ता बदल गई, लेकिन वर्तमान बीजेपी सरकार ने भी उस प्रक्रिया को आगे बढ़ाने में कोई कमी नहीं छोड़ी।

वन रक्षकों को हथियार यानी पिस्टल या गन खरीदने की प्रक्रिया आगे चल रही है। अब तक वन विभाग के पास 183 फॉरेस्ट गार्ड ने हथियार के लिए आवेदन किए हैं। यहां तक कि वन मुख्यालय की ओर से सभी सर्कल आधार पर 183 वन रक्षकों के लिए 12 हजार रुपये प्रति हथियार के हिसाब से सब्सिडी भी जारी कर दी है। प्रदेश सरकार प्रति हथियार 12 हजार रुपये सब्सिडी दे रही है। इसके अलावा जितनी राशि लगेगी वह संबंधित फोरेस्ट गार्ड व्यय करेंगे।

सरकार एक साथ जारी करेगी लाइसेंस

प्राप्त जानकारी के मुताबिक जिन फॉरेस्ट गार्ड ने हथियार के लिए आवेदन किए हैं, उन्हें सरकार एक साथ लाइसेंस जारी करेगी। बताया गया कि संवदेन और अति संवेदनशील सर्कल और बीट पर सेवाएं देने वाले वन रक्षकों को प्राथमिकता के तौर पर सबसे पहले हथियार मिलेगा। उसके बाद यदि कोई फॉरेस्ट गार्ड का तबादला भी हो जाता है तो उससे हथियार वापस नहीं लिया जाएगा। इसके साथ ही सेवानिवृत्त होने के बाद भी वह हथियार संबंधित फॉरेस्ट गार्ड के पास ही रहेगा।

पीसीसीएफ अजय कुमार शर्मा ने कहा कि हथियार खरदने के लिए अभी तक 183 फॉरेस्ट गार्ड ने आवेदन किए हैं, हमलने पहले चरण में सभी सर्कल को 12 हजार रुपये प्रति हथियार के हिसाब से सब्सिडीभी जारी कर दी है। आने वाले दिनों में हम सभी को एक साथ लाइसेंस जारी करने में सहयोग करेंगे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है