Covid-19 Update

1,98,583
मामले (हिमाचल)
1,91,025
मरीज ठीक हुए
3,379
मौत
29,510,410
मामले (भारत)
176,764,688
मामले (दुनिया)
×

ब्रेकिंग: ट्रेनिंग कमांड की जगह पर शिमला में सेना खोलेगी दो नए मुख्यालय

ब्रेकिंग: ट्रेनिंग कमांड की जगह पर शिमला में सेना खोलेगी दो नए मुख्यालय

- Advertisement -

दिल्ली/शिमला। कांग्रेस (Congress) और स्थानीय लोगों द्वारा शिमला से सेना प्रशिक्षण कमान (Army training command) को शिफ्ट करने का विरोध किए जाने पर सेना ने शिमला में दो नए फॉर्मूले शिफ्ट करने का प्लान बनाया है। सेना से जुड़े सूत्रों द्वारा बताया गया कि इस साल दिसंबर तक, सेना प्रशिक्षण कमान को मेरठ में शिफ्ट करने की योजना है। जिसकी जगह पर शिमला में एक इन्फैंट्री डिवीजन मुख्यालय (Headquarters of an infantry division) और पंजाब और हिमाचल प्रदेश क्षेत्र मुख्यालय (Punjab and Himachal Pradesh Regional Headquarters) प्रतिस्थापित किया जाएगा।

यह भी पढ़ें:हिमाचल बोर्ड कक्षा 10वीं का पुनर्मूल्यांकन/पुनर्निरीक्षण परिणाम जारी, पढ़ें पूरी खबर

सेना से जुड़े सूत्र द्वारा बताया गया कि दो नए फार्मूलेशन (New formulation) वहां तैनात किए जाएंगे और वहां तैनात सैनिकों की संख्या पहले से अधिक हो सकती है। बताया गया कि सेना अपने पुनर्गठन योजनाओं के तहत, राष्ट्रीय राजधानी से निकटता और बेहतर समन्वय के कारण मेरठ में प्रशिक्षण कमान को शिफ्ट कर रही है। सूत्रों ने कहा कि इन संरचनाओं में सैनिकों की संख्या पहले की तुलना में अधिक होने की संभावना है और लड़ाके जवान शहर में मौजूद रहेंगे। शिमला अपने सैन्य दृष्टिकोण को बनाए रखना जारी रखेगा, सूत्रों ने कहा कि पंजाब और हिमाचल प्रदेश क्षेत्र मुख्यालय को अंबाला से शिमला शिफ्ट किया जा रहा है, जो राज्य के सेवानिवृत्त और सेवारत सैनिकों के कल्याण को बेहतर तरीके से संबोधित करने में मदद करेगा।


यह भी पढ़ें: जेई ने मौका करने को कहा तो टीचर ने कर दी धुनाई

गौरतलब है कि कांग्रेस ने गुरुवार को केंद्र सरकार द्वारा हिमाचल प्रदेश के शिमला से उत्तर प्रदेश में मेरठ में सेना प्रशिक्षण कमान (ARTRAC) को शिफ्ट करने की प्रस्तावित योजना पर आपत्ति जताई थी। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से इस योजना को रद्द करने का आग्रह करते हुए, कांग्रेस सांसद आनंद शर्मा ने उन्हें एक पत्र लिखा जिसमें कहा गया कि इससे शिमला और पहाड़ी राज्य की अर्थव्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा। बुधवार को लिखे अपने पत्र में, उन्होंने कहा, ‘शिमला से मेरठ तक इन बड़े संस्थानों को शिफ्ट करने के लिए बहुत बड़े वित्तीय प्रभाव होंगे, जो सैकड़ों करोड़ रुपये की सरकारी राशि पर नकारात्मक प्रभाव डालेंगे और किसी भी उद्देश्य की पूर्ति नहीं करेंगे।’

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है