Covid-19 Update

1,99,740
मामले (हिमाचल)
1,93,403
मरीज ठीक हुए
3,411
मौत
29,762,793
मामले (भारत)
178,254,136
मामले (दुनिया)
×

200 आदिवासियों ने Maharashtra में चोर समझकर 3 लोगों की पीट-पीटकर हत्या की

200 आदिवासियों ने Maharashtra में चोर समझकर 3 लोगों की पीट-पीटकर हत्या की

- Advertisement -

नई दिल्ली। भारत में कोरोना संकट को देखते हुए लगाए गए देशव्यापी लॉकडाउन के बीस महाराष्ट्र (Maharashtra) के पालघर से एक दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है। यहां पर ग्रामीणों के एक समूह ने चोर होने के संदेह पर तीन लोगों की पीट-पीटकर हत्या (Murder) कर दी। मामले के बारे में जानकारी देते हुए महाराष्ट्र पुलिस ने बताया कि गुरुवार रात को पालघर में करीब 200 आदिवासियों ने एक वैन में जा रहे तीन अज्ञात लोगों को चोर समझकर उनकी पीट-पीटकर हत्या कर दी। बतौर पुलिस, ड्राइवर ने किसी तरह पुलिस को फोन किया जिसके बाद वह मौके पर पहुंची।

पुलिस ने शुक्रवार सुबह इस मामले में 30 लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस द्वारा मामले की जानकारी देते हुए आगे बताया गया कि कर्फ्यू के दौरान गुरुवार को रात के 9:30 से 10 बजे के बीच यह घटना हुई है। तीनों की पहचान अभी तक नहीं की जा सकी है। शवों को पोस्टमार्टम के लिए पालघर के सरकारी अस्पताल में भेज दिया गया है। जांच में सामने आया है कि तीनों एक कार से मुंबई से आए थे। यह कार गडचिंचाले के पास ढाबाड़ी-खानवेल मार्ग पर बरामद हुई है।


मिली जानकारी के अनुसार मृतकों को कार से बाहर निकाला गया और उन पर पत्थर और लाठियों से हमला कर दिया। मरने से पहले तीनों में से किसी एक ने पुलिस स्टेशन में फोन करके इसकी जानकारी दी थी। जब तक पुलिस वहां पहुंचती वह लोग गंभीर रूप से घायल हो चुके थे। पुलिस ने बड़ी मुश्किल से उन्हें भीड़ से छुड़ाया और कासा गवर्मेंट हॉस्पिटल ले गए, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है