Covid-19 Update

59,118
मामले (हिमाचल)
57,507
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,228,288
मामले (भारत)
117,215,435
मामले (दुनिया)

एबीवीपी की दो टूक- मांगें नहीं मानीं तो झेलना होगा छात्रों का आक्रोश

एबीवीपी की दो टूक- मांगें नहीं मानीं तो झेलना होगा छात्रों का आक्रोश

- Advertisement -

नाहन। पीजी कॉलेज नाहन में एबीवीपी की 24 घंटे की सांकेतिक भूख हड़ताल मंगलवार 12 बजे खत्म हुई। इस मौके पर कॉलेज की प्रिंसिपल व वाइस प्रिंसिपल ने छात्रों को जूस पिलाकर हड़ताल तुड़वाई। बता दें कि एबीवीपी शिक्षा क्षेत्र की खामियों को लेकर सांकेतिक भूख हड़ताल पर बैठी थी। हड़ताल सोमवार को दोपहर 12 बजे से शुरू की गई थी जो मंगलवार दोपहर 12 बजे खत्म हुई। इस दौरान 25 विद्यार्थी हड़ताल पर बैठे थे। एबीवीपी ने ऐलान किया कि यदि समय रहते छात्रों की मांगों को पूरा नहीं किया जाता तो आने वाली 7 तारीख को प्रदेश में पूर्ण शिक्षा बंद करने से भी गुरेज नहीं किया जाएगा।


यह भी पढ़ें: बिग ब्रेकिंगः हिमाचल में एससीए चुनाव को लेकर सदन में क्या बोली सरकार-जानिए

 

एबीवीपी के मीडिया प्रभारी एवं छात्र नेता अंशुल शर्मा ने बताया कि कॉलेज में छात्र पढ़ाई के लिए आते हैं, लेकिन उन्हें कक्षाओं में बैठने की जगह हड़ताल पर बैठने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। यदि अब भी सरकार विद्यार्थियों की मांगों को पूरा नहीं करती है तो सरकार को विद्यार्थियों के आक्रोष का सामना करना पड़ेगा। इसके लिए सरकार जिम्मेदार होगी।

सुंदरनगर। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद सुंदरनगर इकाई द्वारा शुरू की गई सांकेतिक भूख हड़ताल मंगलवार को महाविद्यालय के प्राचार्य अजय कपूर द्वारा कार्यकर्ताओं को जूस पिलाकर तोड़ी गई। इस भूख हड़ताल में विद्यार्थी परिषद सुंदरनगर इकाई के 31 कार्यकर्ता भूख हड़ताल पर बैठे थे।

नादौन। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद नादौन इकाई के कार्यकर्ताओं ने प्रदेश कार्यकारिणी के आह्वान पर शिक्षा के क्षेत्र में व्यापक अनियमित्तताओ को लेकर की गई 24 घंटे की भूख हड़ताल को समाप्त कर दिया है। नादौन महाविद्यालय के प्राचार्य डा. सतिन्द्र शर्मा ने जूस पिला कर इस हड़ताल को समाप्त करवाया गया।

उल्लेखनीय है कि एबीवीपी छात्र संघ चुनाव बहाल करने, परीक्षा परिणामों में अनियमितताओं को दूर कर परीक्षा परिणाम घोषित करने, कलस्टर विश्वविद्यालय के स्थाई परिसर का निर्माण शुरू करने, विश्वविद्यालय को राज्य विश्वविद्यालय का दर्जा देने, केंद्रीय विश्वविद्यालय के स्थाई परिसर का निर्माण कार्य जल्द शुरू करने, कॉलेजों में शिक्षकों व गैर शिक्षकों के रिक्त पदों को भरने, बागवानी विवि नौणी और कृषि विवि पालमपुर में छात्रों से ली जा रही अत्यधिक फीस वृद्धि को कम करने आदि मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रही है। इसको लेकर एबीवीपी ने आगामी रणनीति भी तैयार की है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है