Covid-19 Update

2,18,314
मामले (हिमाचल)
2,12,899
मरीज ठीक हुए
3,653
मौत
33,678,119
मामले (भारत)
232,488,605
मामले (दुनिया)

Online ठगी के एक साल बाद खाते में वापस आए 25 लाख, दो आरोपी धरे

Online ठगी के एक साल बाद खाते में वापस आए 25 लाख, दो आरोपी धरे

- Advertisement -

सुंदरनगर/शिमला। हिमाचल की साइबर क्राइम टीम (Cyber Crime team) ने एक वर्ष के बाद 25 लाख से अधिक रुपये की ऑनलाइन ठगी करने वाले रैकेट का पर्दाफाश किया है। पुलिस द्वारा मामले में 2 आरोपियों को पश्चिम बंगाल और बिहार से गिरफ्तार किया गया है। इनमें पश्चिम बंगाल (West Bengal) के पुरुलिया में रहने वाला विशाल कुमार पाल और बिहार के बेगुसराय में रहने वाला प्रद्युमन उर्फ करण पंडित शामिल है। पुलिस ने छापामारी कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर शिमला लाया गया है। शिकायकर्ता के खाते में 25 लाख 74 हजार 435 रुपये आ गए हैं।

यह भी पढ़ें: कुल्लूः ऑनलाइन ठगी का मुख्य सरगना गिरफ्तार, बैंक अधिकारी बनकर करता था Fraud

 

 

 

बता दें कि पीड़ित ठेकेदार भवन कुमार जिला मंडी के उपमंडल बल्ह के गांव स्यांह के रहने वाले हैं। शिकायतकर्ता द्वारा एक वर्ष पहले बल्ह पुलिस थाना में एफआईआर (FIR) दर्ज करवाई थी। इसके उपरांत बड़े पैमाने पर की गई इस ऑनलाइन ठगी के मामले को साइबर क्राइम पुलिस थाना शिमला को जांच के लिए ट्रांसफर कर दिया गया था। जहां अब पुलिस के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है। शिकायतकर्ता भवन कुमार ने कहा कि बीते वर्ष जुलाई महीने में ऑनलाइन ठगी (Online Fraud) के शिकार हुए थे। उन्होंने कहा कि वह एटीएम (ATM) से 10 हजार रुपए निकालने गए थे, लेकिन पूरी प्रक्रिया के बाद भी एटीएम से पैसे नहीं निकले। इस पर ठेकेदार ने बैंक के टोल फ्री नंबर पर इसकी शिकायत दी गई। इसके अगले दिन अज्ञात नंबर से ठेकेदार को एक फोन आया। फोन करने वाले ने अपने आप को बैंक का अधिकारी बताया और उससे खाते से लिंक मोबाइल नंबर और डेबिट कार्ड की जानकारी ले ली।

यह भी पढ़ें: बैंक अधिकारी बता ATM और OTP नंबर जानकर खाते से उड़ाए 2 लाख 80 हजार

 

इसके बाद आरोपी ने ठेकेदार के एयरटेल के मोबाइल नंबर को फर्जी केवाईसी पर वोडाफोन नंबर में पोर्ट कर दिया। इसके उपरांत मोबाइल नेट बैंकिंग के माध्यम से शिकायतकर्ता के 2 खातों से लगभग 25 लाख रुपये की राशि ई-वॉलेट, पेटीएम सहित अन्य पर ट्रांसफर (Transfer) कर दी और बाद में यह राशि किसी बैंक के 20 से 25 खातों में डाल दी गई। ठेकेदार को जब सिम बदलने का पता चला तब तक शातिर उनके साथ लाखों की ठगी कर चुके थे। वहीं, पीड़ित शख्स ने बैंक खाते में वापस लौटी राशि के बाद हिमाचल प्रदेश साइबर क्राइम के साथ प्रदेश पुलिस के डीजीपी संजय कुंडू सहित सीएम जयराम ठाकुर का आभार जताया है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है