Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,526,622
मामले (भारत)
196,707,763
मामले (दुनिया)
×

आफत की बर्फबारीः हिमाचल में 6 एनएच सहित 300 सड़कों पर थमे पहिए

आफत की बर्फबारीः हिमाचल में 6 एनएच सहित 300 सड़कों पर थमे पहिए

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल में मौसम के करवट बदलते ही आफत का दौर शुरू हो गया। बर्फबारी के चलते हिमाचल के 6 एनएच सहित लगभग 300 सड़कों पर यातायात ठप हो गया है। इस कारण लोगों को दिक्कतों का सामने करना पड़ रहा है। वहीं, सड़कों को सुचारू करने के लिए पीडब्ल्यूडी (PWD) ने कार्य शुरू कर दिया है। पर बिगड़ा मौसम इसमें बाधा बन रहा है। उधर, मौसम विभाग की चेतावनी के बाद जिला शिमला में हुई बर्फबारी से राजधानी शिमला थम गई है। बीते 36 घंटे में हुई बर्फबारी (Snowfall) से जिला की अधिकतर सड़कें वाहनों की आवाजाही के लिए पूरी तरह से बंद हो गई हैं। जिला में एनएच-पांच और एनएच-305 समेत करीब 39 ग्रामीण क्षेत्रों के रूट पूरी तरह से बंद हो गई हैं।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस Link पर Click करें

सड़कों को बहाल करने के लिए विभिन्न स्थानों पर 39 जेसीबी मशीनें और 7 स्नो कट्टर (Snow Cutter) और रोबोट (Robot) के साथ-साथ जगह-जगह पर मैन पॉवर तैनात की है, जो सड़कों को बहाल करने में जुटे हुए हैं। बर्फबारी से रोहड़ू सब डिवीजन में सबसे ज्यादा 27 ग्रामीण रूट प्रभावित हुए हैं। इसके अलावा चौपाल में सात और कुमारसैन के चार, रामपुर के दो और ठियोग में एक ग्रामीण रुट प्रभावित हुआ है, जिसे बहाल करने के लिए प्रशासन ने मशीनें और मैन पावर तैनात की है। वहीं बर्फबारी से जगह-जगह बिजली भी प्रभावित हुई है, जिसे विद्युत बोर्ड के कर्मी बहाल करने में जुटे हुए हैं। एडीसी शिमला अपूर्व देवगन ने बताया कि बीते 36 घंटे में जिला के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में एक से दो फीट बर्फबारी हुई है, जिससे सभी उपमंडलों में कुछेक रूट प्रभावित हुए हैं, जिसे बहाल किया जा रहा है। उन्होंने बर्फबारी के दौरान पर्यटकों को सड़क पर सावधानी से वाहन चलाने और ऊंचे क्षेत्रों में न जाने की सलाह दी है।


 

शिमला-रामपुर वाया नारकंडा सड़क को यातायात के लिए खोल दिया गया है, लेकिन करीब चार शिमला शहर सहित ऊपरी शिमला में फिर से हिमपात शुरू हो गया था। संपर्क मार्ग शिल्ली-कंडी-जदून, हाटू संपर्क मार्ग, नारकंडा-दोजा, शिल्ली-कंडी-नगरोट सड़कें बर्फबारी (Snowfall) की वजह से अवरूद्ध है, जहां पर पर्याप्त मात्रा में मशीन व मजदूरों को तैनात कर इसे शीघ्र खोलने का प्रयास किया जा रहा है। चौपाल, रोहड़ू और डोडरा क्वार के कुछ क्षेत्रों को छोड़कर जिला में विद्युत आपूर्ति सामान्य है। विद्युत आपूर्ति बाधित क्षेत्रों में आपूर्ति बहाल करने के लिए मशीन व कर्मचारियों की तैनाती की जा चुकी है। जिला में पेयजल आपूर्ति बाधित होने की कोई भी शिकायत अभी तक प्राप्त नहीं हुई है। प्रशासन ने किसी भी आपातकाल स्थिति से निपटने के लिए हेल्पलाइन नंबर 1077 तथा दूरभाष नंबर 0177-2800880 तथा 2800881 जिला आपदा प्रबंधन सेल से संपर्क कर सकते हैं।

जनजातीय किन्नौर (Kinnaur) जिला पूरी तरह से शीत लहर की चपेट में आ गया है। समूचे जिले में पिछले एक दिन से रुक-रुक कर बर्फ बारी जारी है, जिसके चलते जिले में ठंड का प्रकोप बढ़ गया है। जिला मुख्यालय में प्राप्त सूचना के अनुसार किन्नौर (Kinnaur) जिला के छितकुल, रकछम में 12 इंच बर्फ दर्ज की गई, जबकि जिला के कल्पा में 9 इंच व जिला मुख्यालय रिकांगपिओ 6 इंच बर्फ दर्ज की गई है। डीसी गोपाल चंद ने बताया कि जिले को जोड़ने वाला राष्ट्रीय उच्च मार्ग-पांच यातायात के लिए खोल दिया गया है। यह मार्ग पूर्वनी के पास बर्फ बारी के कारण अवरूद्ध हो गया था। कल्पा लोक निर्माण मंडल के अंतर्गत 40 संपर्क मार्ग अवरूद्ध हैं, जिनमें से 15 संपर्क मार्गों को सायं तक यातायात के लिए बहाल कर दिए जाएंगे। भावानगर लोक निर्माण मंडल के तहत सांगला घाटी के अधिकांश संपर्क मार्गों सहित 25 संपर्क मार्ग अवरूद्ध हैं, जिन्हें यातायात के लिए खोलने के प्रयास जारी हैं।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है