×

कंडवाल 36, पांवटा और कालाअंब में 29 लोग Quarantine में रखे

कंडवाल 36, पांवटा और कालाअंब में 29 लोग Quarantine में रखे

- Advertisement -

नूरपुर/फतेहपुर। लॉकडाउन (Lockdown) के बाद दूसरे राज्यों से पलायन कर जिला में प्रवेश करने वाले हिमाचली युवाओं के अतिरिक्त जिला से सीमांत राज्य में पलायन करने पर आज 36 लोगों को कंडवाल स्कूल में बनाए गए आइसोलेशन सेंटर (Isolation Center) में 14 दिन के लिए क्वारंटाइन किया गया है। इनमें से 12 हिमाचली लोग लॉकडाउन के पश्चात राजस्थान से पलायन कर ज़िला की सीमा में पहुंचे हैं, जबकि 24 कश्मीरी मजदूर जम्मू व कश्मीर राज्य में अपने घरों की ओर जा रहे थे। एसडीएम डॉ. सुरेंद्र ठाकुर ने जानकारी दी है कि इन लोगों को जिला की सीमा पर रोक कर कंडवाल स्कूल ले जाया गया व  प्रशासन द्वारा इनके खाने का इंतजाम किया गया। इस मौके पर डीएसपी साहिल अरोड़ा सहित नायब तहसीलदार देस राज ठाकुर भी उपस्थित थे। निगरानी के लिए बरंडा के फील्ड कानूनगो जोगिंद्र सिंह को इस क्वारंटाइन सेंटर का नोडल ऑफिसर नियुक्त किया गया है।


उन्होंने बताया कि सेंटर में क्वारंटाइन (Quarantine) किए गए लोगों पर निगरानी रखने के लिए पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं, जो इन दिन-रात न पर नजर रखेंगे। एसडीएम ने बताया कि इन सभी लोगों की डॉक्टरों की टीम द्वारा स्वास्थ्य जांच की जाएगी तथा किसी भी व्यक्ति में कोरोना के संक्रमण पाए जाने पर उसे टांडा मेडिकल कॉलेज भेजा जाएगा। उधर, डीएसपी डॉ. साहिल अरोड़ा ने बताया कि दूसरे राज्यों व जिलों से होने वाले पलायन के दृष्टिगत जिला की सीमा  को पूरी तरह से सील कर दिया गया है तथा पुलिस द्वारा हर आने-जाने वाले वाहन व व्यक्ति पर पैनी नजर रखी जा रही है। उन्होंने बताया कि जिला की सीमा में प्रवेश करने वाले हर व्यक्ति का पूरा रिकॉर्ड दर्जकर उसे आइसोलेशन सेंटर में क्वारंटाइन किया जाएगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 


वहीं, कोरोना वायरस के चलते फतेहपुर प्रशासन ने बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों को निगरानी में रखने के लिए 4 क्वारंटाइन सेंटर बनाए हैं। प्रशासन की तरफ से मिली जानकारी अनुसार शिवा पैलेस फतेहपुर में 200 बैड, जनता पैलेस बरोट में 200 बैड, महाराजा पैलेस रैहन में 100 बैड व बार एंड रेस्टोरेंट स्थाना नजदीक 52 गेट 20 बैड की सुविधा है। खंड चिकित्सा अधिकारी फतेहपुर आरके मैहता ने बताया कि बाहर से आने वाले लोगों को 14 दिन के लिए घर से बाहर क्वारंटाइन में प्रशासन की निगरानी में पर्याप्त हिदायतों के साथ रखा जाएगा। अगर किसी में लक्षण दिखाई देते हैं तो उनके सैंपल लेकर टेस्ट किए जाएंगे। एसडीएम फतेहपुर बलवान चंद ने कहा कि बाहर से आने वाले लोग कांगड़ा सीमा पर ना आएं, नहीं तो उन्हें 28 दिन के लिए क्वारंटाइन कैंप में रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि दुकानदार समय अवधि का पालन करें।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

जिला प्रशासन के आदेशों का किया जा रहा था उल्लंघन, जारी थी मूवमेंट

नाहन। सिरमौर जिला में कर्फ्यू के दौरान किसी भी तरह की मूवमेंट पर पूरी तरह से पूर्णतः प्रतिबंद है। कोई भी व्यक्ति जिला से बाहर व जिला के अंदर नहीं आ जा सकता है। रविवार से सरकार के निर्देशों पर यह आदेश सख्ती से लागू किए गए है। इसके तहत आदेशों का उल्लंघन करने वाले 29 लोगों को पुलिस ने सीधे 14 दिन के लिए क्वारंटाइन केंद्र में भेज दिया है। पांवटा साहिब में 19 व कालाअंब में 10 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। साथ ही शिमला, सोलन आदि जगहों से जो लेबर चली हुई थी, ऐसे 80 से 90 लोगों को भी जिला के अलग-अलग हिस्सों से पुलिस ने डिटेन कर होम शैल्टर में भेज दिया है। वहीं एसपी सिरमौर ने सभी से अपील की है कि जो जहां हैं, वहीं बना रहे और प्रशासन का सहयोग करें। एसपी सिरमौर अजय कृष्ण शर्मा ने बताया कि रविवार से कफ्र्यू को लेकर नए सरकार के निर्देशों पर रविवार से जिला की सभी सीमाएं पूरी तरह से सील कर दी गई है। कोई भी व्यक्ति जिला के अंदर व जिला से बाहर नहीं जा सकता। ऐसे में जहां पांवटा साहिब व कालाअंब में 29 लोगों को सीधे ही क्वारंटाइन में भेजा गया है, वहीं विभिन्न स्थानों से पैदल चलकर आए 80 से 90 श्रमिकों को होम शेल्टर में रखा गया है। प्रशासन की तरफ से संबंधित लोगों को खाना आदि मुहैया करवाया जा रहा है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है