Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,571,295
मामले (भारत)
197,365,402
मामले (दुनिया)
×

In Depth: हिमाचल के इस जिले में 47 प्रतिशत महिलाएं मासिक धर्म में Sanitary Napkins का प्रयोग नहीं करती

In Depth: हिमाचल के इस जिले में 47 प्रतिशत महिलाएं मासिक धर्म में Sanitary Napkins का प्रयोग नहीं करती

- Advertisement -

कुल्लू। हिमाचल प्रदेश का कुल्लू (Kullu in Himachal Pradesh)एक ऐसा जिला है यहां की लगभग 47 प्रतिशत महिलाएं मासिक धर्म के दौरान सेनेटरी नेपकिन (Sanitary Napkins) का प्रयोग ही नहीं कर रही हैं। जिला में हाल ही में करवाए गए एक सर्वे (Survey) में इसकी पुष्टि हुई। जिला में इस तरह की स्थिति को देखते हुए डीसी डॉ ऋचा वर्मा (DC Dr. Richa Verma) ने एक अनूठी पहल करके महिलाओं और किशोरियों को मासिक धर्म स्वच्छता के प्रति जागरुक करने के लिए एक व्यापक अभियान शुरू करने का निर्णय लिया है। डा ऋचा ने स्वयं इस अभियान की रूपरेखा तैयार करके इसे एक जन आंदोलन का रूप देने का संकल्प लिया है। इस अभियान को संवेदना नाम से आरंभ किया जा रहा है। हिमाचल प्रदेश रेडक्रॉस सोसाइटी की उपाध्यक्ष डॉ साधना ठाकुर (Dr. Sadhna Thakur, Vice President of Himachal Pradesh Red Cross Society)कल सुबह 10 बजे कुल्लू के अटल सदन में आयोजित किए जाने वाले एक कार्यक्रम में विधिवत रूप से संवेदना अभियान को लांच करेंगी।


सभी स्कूलों में नोडल शिक्षिकाएं या शिक्षक नियुक्त किए जाएंगे

डॉ ऋचा ने बताया कि इस अभियान के तहत जिले भर में एक व्यापक मुहिम चलाई जाएगी तथा महिलाओं एवं किशोरियों को मासिक धर्म स्वच्छता और सेनेटरी नेपकिन के प्रयोग के प्रति जागरुक किया जाएगा। कार्यक्रम के तहत जिले के सभी स्कूलों में नोडल शिक्षिकाएं या शिक्षक नियुक्त किए जाएंगे। इन शिक्षक-शिक्षिकाओं को विशेष प्रशिक्षण दिया जाएगा तथा उन्हें मासिक धर्म स्वच्छता से संबंधित पठन,सामग्री या पेंफलेट एवं सेनेटरी पैड का स्टाॅक भी उपलब्ध करवाया जाएगा।



यह भी पढ़ें: एचआरटीसी की बस ने ट्रैक्टर ट्रॉली को मारी टक्कर, चालक ने भाग कर बचाई जान

इससे किशोरियां स्कूल स्तर (School Level) पर ही मासिक धर्म स्वच्छता के प्रति जागरुक होंगी तथा नोडल शिक्षिकाओं के साथ अपनी स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं भी साझा कर सकेंगी। ग्राम स्तर पर आंगनबाड़ी और आशा वर्कर्स महिलाओं को सेनेटरी नेपकिन के प्रयोग के लिए प्रेरित करेंगी। अभियान के दौरान जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग के स्त्री रोग विशेषज्ञ महिलाओं के लिए मेडिकल चैकअप कैंप लगाएंगे। इन कैंपों में ग्रामीण महिलाएं बेझिझक गाईनी से संबंधित अपनी स्वास्थ्य समस्याओं का उपचार करवा सकेंगी।

सेनेटरी नेपकिन के सही निष्पादन पर भी दिया जाएगा बल

डीसी ने बताया कि संवेदना अभियान के दौरान महिलाओं को सेनेटरी नेपकिन के प्रयोग के लिए प्रेरित करने के साथ-साथ नेपकिन के सही निष्पादन पर भी विशेष बल दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि कुल्लू जिले के सभी बड़े अस्पतालों और निजी स्कूलों में सेनेटरी नेपकिनों के सही निष्पादन के लिए इंसीनरेटर लगाए जा रहे हैं।

सरकारी शिक्षण संस्थानों में भी विभिन्न माध्यमों से इंसीनरेटर लगाने की संभावनाएं तलाशी जा रही हैं। डीसी ने बताया कि ग्राम स्तर पर सेनेटरी नेपकिनों के निष्पादन की व्यवस्था करने के लिए एक पायलट प्रोजेक्ट के तहत कुछ पंचायतों या महिला मंडलों को मिट्टी के पारंपरिक तंदूर जैसे ईको.फ्रेंडली इंसीनरेटर दिए जाएंगे। इनके माध्यम से सेनेटरी नेपकिनों का सही निष्पादन किया जा सकता है।


महिलाओं को कई गंभीर बीमारियों से बचाता है सेनेटरी नेपकिन

डॉ ऋचा वर्मा ने कहा कि मासिक धर्म के दौरान स्वच्छता का ध्यान न रखना तथा सेनेटरी नेपकिन का प्रयोग न करनाए कई महिलाओं के लिए घातक सिद्ध हो सकता है। उन्होंने बताया कि मासिक धर्म के दौरान लापरवाही बरतने पर महिलाओं में संक्रमण की आशंका कई गुणा बढ़ जाती है। इस संक्रमण से महिलाओं को गर्भाशय का कैंसर या यौन संक्रमित रोग हो सकते हैं। इससे महिलाओं में बांझपन की समस्या भी हो सकती है। लिहाजा, महिलाओं और किशोरियों के लिए मासिक धर्म के दौरान सेनेटरी नेपकिन का प्रयोग अत्यंत आवश्यक है।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है