Covid-19 Update

2,17,140
मामले (हिमाचल)
2,11,871
मरीज ठीक हुए
3,637
मौत
33,501,851
मामले (भारत)
229,513,714
मामले (दुनिया)

#Monsoon_Session : कोरोना संकट के बीच हिमाचल में इतने लोगों ने किया Suicide, ये कारण

306 पुरुष व 175 महिलाओं ने आत्महत्याएं की हैं

#Monsoon_Session : कोरोना संकट के बीच हिमाचल में इतने लोगों ने किया Suicide, ये कारण

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल में कोरोना संकट के बीच 481 लोगों ने आत्महत्याएं (Suicide) की हैं। इसमें 306 पुरुष व 175 महिलाएं शामिल हैं। अधिकतर आत्महत्याएं घरेलू समस्याओं, लंबे समय से बीमारी के कारण अपना मानसिक संतुलन खो देने, मानसिक तनाव अस्थिरता, पारिवारिक कलह, आधुनिक जीवन शैली, नशे की बढ़ोतरी, प्रेमी प्रेमिका के संबंधों में तनाव व संबंधों का अंत, आर्थिक स्थिति व सहनशीलता की कमी आदि के कारण पाई गई हैं। यह जानकारी सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने सदन में नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री द्वारा पूछे सवाल के जवाब में दी।

यह भी पढ़ें: Himachal में 6 विभागों के इन कर्मियों को मिलता है एक माह का अतिरिक्त वेतन

जानकारी दी है कि गत तीन वर्ष में 1 जनवरी 2018 से 31 जुलाई 2020 तक प्रदेश में कुल 1946 लोगों ने आत्महत्या की, जिनमें 1197 पुरुष व 749 महिलाएं थीं। 1 जनवरी 2020 से 31 जुलाई 2020 तक 481 आत्महत्याएं दर्ज हुई, जिनमें 306 पुरुष व 175 महिलाएं थी। वर्ष 2020 में 1 जनवरी 2020 से 31 जुलाई 2020 तक के आंकड़ों को देखकर यह प्रतीत होता है कि वर्ष 2019 में इसी अवधि में आत्महत्या की कुल 434 घटनाएं हुई थी जो वर्तमान वर्ष की इसी अवधि की तुलना में कुछ कम है। जहां तक आत्महत्या के कारणों का प्रश्न है तो वर्तमान में 481 मामलों में मात्र 55 मामले धारा 306 आत्महत्या के लिए उत्प्रेरित करना के हैं।

 

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Channel

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है