Covid-19 Update

2,21,826
मामले (हिमाचल)
2,16,750
मरीज ठीक हुए
3,711
मौत
34,108,996
मामले (भारत)
242,470,657
मामले (दुनिया)

Budget Session: इन 5,651 शिक्षकों और गैर शिक्षकों ने #Corona में निभाई ड्यूटी

हजारों शिक्षकों को कोरोना महामारी से संबंधित कार्य के लिए किया था प्रतिनियुक्त

Budget Session: इन 5,651 शिक्षकों और गैर शिक्षकों ने #Corona में निभाई ड्यूटी

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल में कोरोना (#Corona) के चलते लंबे अरसे से स्कूल (School) और कॉलेज बंद रहे। इस दौरान ना तो छात्र और ना ही शिक्षक स्कूल आए। लेकिन, ऐसे शिक्षक (Teacher) भी थे, जिन्होंने कोरोना संकट में भी ड्यूटी निभाई। हिमाचल में 5,638 शिक्षकों और 13 गैर शिक्षक श्रेणी के कर्मयारियों ने कोरोना महामारी से संबंधित कार्य में ड्यूटी दी है। एक अप्रैल 2020 के बाद कोरोना महामारी से संबंधित कार्य के लिए प्रारंभिक शिक्षा विभाग (Department of Elementary Education) में कार्यरत 2,216 प्राथमिक अध्यापकों, 773 शास्त्रीय एवं मातृभाषा/स्थानीय भाषा अध्यापकों तथा 1,502 प्रशिक्षित स्नातक अध्यापकों को प्रतिनियुक्ति किया गया था।

यह भी पढ़ें:हिमाचल कैबिनेट की बैठक आज, बढ़ते कोरोना से निपटने पर होगा मंथन

इसमें ऊना जिला में 42 जेबीटी (JBT), 46 शास्त्रीय एवं मातृभाषा व स्थानीय भाषा, 28 टीजीटी, कांगड़ा में 408 जेबीटी, 670 टीजीटी (TGT), किन्नौर में 12 जेबीटी, एक शास्त्रीय एवं मातृभाषा व स्थानीय भाषा, कुल्लू में 89 जेबीटी, 37 शास्त्रीय एवं मातृभाषा व स्थानीय भाषा व 18 टीजीटी शिक्षकों को प्रतिनियुक्ति किया गया था। चंबा में 741 जेबीटी, 153 शास्त्रीय एवं मातृभाषा व स्थानीय भाषा, 205 टीजीटी, बिलासपुर में 45 जेबीटी, 1 शास्त्रीय एवं मातृभाषा व स्थानीय भाषा और 5 टीजीटी, मंडी में 338 जेबीटी, सोलन में 126, 25 शास्त्रीय एवं मातृभाषा व स्थानीय भाषा व 26 टीजीटी, हमीरपुर (Hamirpur) में 415 जेबीटी व 510 शास्त्रीय एवं मातृभाषा व स्थानीय भाषा और 550 टीजीटी को कोरोना से संबंधित कार्यों में ड्यूटी पर लगाया गया था। लाहुल स्पीति, शिमला व सिरमौर में किसी भी शिक्षक की ड्यूटी नहीं लगी थी। यह जानकारी हिमाचल विधानसभा (Himachal Vidhan Sabha) के बजट सत्र (Budget Session) में ज्वालामुखी के विधायक रमेश ध्वाला के लिखित सवाल के जवाब में शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर ने दी।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में #Corona के बढ़ते मामलों पर सरकार चिंतित, सख्ती की तैयारी

शिक्षा मंत्री ने जानकारी दी है कि 1 अप्रैल 2020 के बाद कोरोना महामारी कार्य के लिए उच्चतर शिक्षा विभाग द्वारा किसी भी अध्यापक अथवा कर्मचारी को ड्यूटी (Duty) पर नहीं लगाया गया। कुछ जिलों में संबंधित जिला के अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी अथवा संबंधित क्षेत्र के एसडीएम (SDM) द्वारा जारी किए गए निर्देशों की अनुपालना में संबंधित जिला के उप शिक्षा निदेशक उच्चतर शिक्षा द्वारा विभिन्न स्कूलों में कार्यरत अध्यापकों गैर शिक्षक कर्मचारियों को इस कार्य के लिए प्रतिनियुक्त किया गया था। इसके अतिरिक्त कॉलेज (College) में कार्यरत 60 सहायक आचार्यों व सह आचार्यों, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं में कार्यरत 33 प्रधानाचार्य, राजकीय उच्च विद्यालयों में कार्यरत 12 मुख्याध्यापकों ,जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं में कार्यरत 912 स्कूल प्रवक्ताओं, 97 शारीरिक शिक्षकों (डीपीई), आउटसोर्स (Outsource) आधार पर नियुक्त सूचना एवं प्रौद्योगिकी के 22 अध्यापकों तथा आउटसोर्स आधार पर नियुक्त विभिन्न विषयों 11 वोकेशनल अध्यापकों को प्रतिनियुक्ति किया गया था। इसके अतिरिक्त कोरोना महामारी के दौरान 1 अप्रैल के बाद कोविड 19 कार्य के लिए शिक्षा विभाग के राजकीय महाविद्यालयों राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं तथा राजकीय उच्च पाठशालाओं में कार्यरत गैर शैक्षणिक कर्मचारियों जैसे 9 अनुसचिवीय कर्मचारी, एक प्रयोगशाला परिचर, तीन चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को भी प्रतिनियुक्त किया गया था।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है