Covid-19 Update

2,06,369
मामले (हिमाचल)
2,01,520
मरीज ठीक हुए
3,506
मौत
31,726,507
मामले (भारत)
199,611,794
मामले (दुनिया)
×

डॉक्टरों पर गाज : निजी Practice करने पर प्रदेश के 7 डॉक्टर Suspend

डॉक्टरों पर गाज : निजी Practice करने पर प्रदेश के 7 डॉक्टर Suspend

- Advertisement -

शिमला। प्रदेश सरकार ने प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में कार्यरत 7 डॉक्टरों को निजी प्रैक्टिस करने पर निलंबित कर दिया है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री कौल सिंह ठाकुर ने जानकारी देते हुए बताया कि ये डॉक्टर अस्पतालों में अपनी ड्यूटी से जानबूझ कर अनुपस्थित थे और निजी प्रैक्टिस में शामिल थे। उन्होंने बताया कि ये डॉक्टर ठीक से अपने कर्तव्यों का पालन व मरीजों का ठीक ढंग से उपचार नहीं कर रहे थे। इसके अलावा, वे निजी प्रैक्टिस में शामिल थे।

उन्होंने कहा कि इन डॉक्टरों के खिलाफ एक जांच कमेटी बिठाई गई थी, जिसने राज्य सरकार को इन डॉक्टरों की अनुपस्थिति की रिपोर्ट सौंपी थी, जिस कारण इस प्रकार सेवाओं में नियमों का उल्लंघन करने पर इन्हें निलंबित किया गया है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि निलंबित किए गए डॉक्टरों का मुख्यालय स्वास्थ्य निदेशालय शिमला में निर्धारित किया गया है और से सभी चिकित्सक सक्षम प्राधिकारी की अनुमति के बिना मुख्यालय नहीं छोड़ेंगे।


इन डॉक्टरों पर गिरी गाज

इन डॉक्टरों में डॉ. प्रशांत राणा, चिकित्सा अधिकारी क्षेत्रीय अस्पताल चम्बा, डॉ. दिनेश ठाकुर, चिकित्सा अधिकारी क्षेत्रीय अस्पताल बिलासपुर, डॉ. अश्विनी सम्मी, चिकित्सा अधिकारी क्षेत्रीय अस्पताल चंबा, डॉ. पंकज शर्मा, चिकित्सा अधिकारी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नालागढ़ जिला सोलन, डॉ. अरविन्द शर्मा, चिकित्सा अधिकारी नागरिक अस्पताल कांगड़ा, डॉ. दीपक ठाकुर, चिकित्सा अधिकारी क्षेत्रीय अस्पताल बिलासपुर और डॉ. पंकज शर्मा चिकित्सा अधिकारी क्षेत्रीय अस्पताल बिलासपुर शामिल हैं।

कुछ और डॉक्टरों पर भी प्रदेश सरकार की नजर

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश के कुछ और डॉक्टरों पर भी प्रदेश सरकार की नजर है। चिकित्सा अधिकारियों को जैनरिक दवाओं को अनिवार्य रूप से लिखने के लिए कहा ताकि सरकार द्वारा गरीब लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा आसानी से उपलब्ध हो सके। न्होंने चिकित्सकों से अपील की कि इस महान व्यवसाय का उद्देश्य मानवता की सेवा है तथा इसे एक मिशन के रूप में अपानाएं, क्योंकि लोगों का डॉक्टरों पर विश्वास है और वे उन्हें भगवान के रूप में मानते हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है