Covid-19 Update

2,06,832
मामले (हिमाचल)
2,01,773
मरीज ठीक हुए
3,511
मौत
31,810,782
मामले (भारत)
201,005,476
मामले (दुनिया)
×

सूरत-ए-हालः एक हफ्ते में सात डॉक्टरों का तबादला

सूरत-ए-हालः एक हफ्ते में सात डॉक्टरों का तबादला

- Advertisement -

doctors transferred: जोनल अस्पताल धर्मशाला में चरमराई स्वास्थ्य सुविधाएं

doctors transferred: धर्मशाला। प्रदेश सरकार स्वास्थ्य सुविधाओं को सुदृढ बनाने के दावे करती है, लेकिन जोनल अस्पताल धर्मशाला में हालात इसके बिल्कुल विपरीत हैं। बेहतर सेवाओं के लिए कई तरह के पुरस्कार हासिल करने वाले अस्पताल में एकदम से स्टाफ की भारी कमी हो गई है। इस कमी का कारण आधा दर्जन से अधिक चिकित्सकों का एक साथ यहां से तबादला है। एक सप्ताह के भीतर ही इस अस्पताल से 7 चिकित्सकों का तबादला हो गया है। इसका सीधा असर स्वास्थ्य सेवाओं पर पड़ रहा है और अस्पताल में उपचार के लिए आने वाले मरीज परेशान हो रहे हैं।

हालत यह है कि कुछ समय पहले यहां 31 डॉक्टर सेवाएं देते थे, जबकि अब यहां पर सिर्फ 20 डॉक्टर ही रह गए हैं। एक सप्ताह के भीतर ही मेडिसन विभाग से 2, गायनी विभाग से 1, पैथोलॉजी विभाग से 1, ऑर्थो विभाग से 1, स्किन विभाग से 1 ओर बाल रोग विभाग से 1 डॉक्टर का तबादला हुआ है। इससे कुछ समय पहले ही नेत्र ओर सर्जरी विभाग से भी एक एक चिकित्सक का तबादला हो चुका है। इतने तबादले होने के बाद भी इन रिक्त स्थानों पर किसी को नियुक्ति नहीं मिली है। जो 20 डॉक्टर यहां रह गए हैं उनमें से भी आधे ही ड्यूटी पर मौजूद न होने से स्थिति और भी खराब हो गई है।


प्रतिदिन 700 की ओपीडी

जोनल अस्पताल धर्मशाला में औसत प्रतिदिन की ओपीडी 700 मरीजों की है और इसके हिसाब से डॉक्टरों की संख्या बहुत ही कम है। इस बारे में जोनल अस्पताल धर्मशाला के वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डॉ. दिनेश महाजन का कहना है कि अस्पताल से कुछ ही समय मे 11 डॉक्टर चले गए हैं और इससे स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित हो रही हैं। जो भी तबादले हुए हैं उनके स्थान पर कोई नई नियुक्ति नहीं हुई है जिससे समस्या और भी गंभीर हुई है। जो डॉक्टर यहां तैनात हैं भी उनमें से भी कुछ ही अस्पताल में सुचारू स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवा रहे हैं। पहले डॉक्टरों की संख्या पर्याप्त थी और स्वास्थ्य सेवाओं में किसी तरह की बाधा उत्पन्न नहीं होती थी। अब कम चिकित्सा स्टाफ के चलते स्वास्थ्य सेवाओं को सुचारू बनाए रखना चुनौती बन गया है। डॉ. महाजन का कहना है कि उन्होंने अपने विभाग के उच्चाधिकारियों को समस्या से अवगत करवा दिया है। इन रिक्त पदों पर जल्द नये चिकित्सकों की तैनाती की मांग भी उन्होंने की है ताकि लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध हो सकें।

यह भी पढ़ें – केंद्र की राह पर Hamirpur जिला प्रशासन, लिया यह फैसला

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है