Covid-19 Update

3,12, 233
मामले (हिमाचल)
3, 07, 924
मरीज ठीक हुए
4189
मौत
44,599,466
मामले (भारत)
623,690,452
मामले (दुनिया)

चंडीगढ़ में बना वर्ल्ड रिकॉर्ड, 7000 छात्रों ने मिलकर बनाया ह्यूमन तिरंगा

 इस साल 15 अगस्त को देश को आजाद हुए हो जाएंगे 75 साल

चंडीगढ़ में बना वर्ल्ड रिकॉर्ड, 7000 छात्रों ने मिलकर बनाया ह्यूमन तिरंगा

- Advertisement -

देशभर में आगामी 15 अगस्त को देश की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर आज से हर घर तिरंगा (Har Ghar Tiranga) यात्रा की शुरुआत हो चुकी है। इसी के चलते चंडीगढ़ में तिरंगा को लेकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बना है। यहां एक क्रिकेट स्टेडियम में 7000 छात्रों ने ह्यूमन चेन बनकर तिरंगा लहराने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है।

यह भी पढ़ें:15 अगस्त को पतंग-बैसाखी के जरिए हो सकता है अटैक, पाकिस्तान ने भेजे बड़ी तादाद में हथियार

गौरतलब है कि इस साल 15 अगस्त को देश को आजाद हुए 75 साल पूरे हो जाएंगे। ऐसे में केंद्र सरकार की मुहिम के तहत देशभर में आजादी का अमृत महोत्सव (Amrit Mahotsav) मनाया जा रहा है। हर घर तिरंगा मुहिम के तहत चंडीगढ़ के सेक्टर 16 स्थित क्रिकेट स्टेडियम में सबसे बड़े ह्यूमन चेन के साथ तिरंगा लहराया गया। इस ध्वजारोहण कार्यक्रम में केंद्रीय संस्कृति मंत्री मीनाक्षी लेखी, चंडीगढ़ के प्रशासक बनवारीलाल पुरोहित और पहलवान योगेश्वर दत्त पहुंचे।

यह भी पढ़ें:ड्रैगन को जवाब देने के लिए बड़ा एटम बम गिराने वाला विमान खरीदेगा भारत

केंद्रीय संस्कृति मंत्री मीनाक्षी लेखी (Meenakshi Lekhi) ने ट्विटर पोस्ट शेयर करते हुए लिखा भारत के लिए गर्व का क्षण। यह साझा करते हुए खुशी हो रही है कि भारत ने क्रिकेट स्टेडियम, चंडीगढ़ में माननीय राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित की उपस्थिति में एक लहराते ध्वज की सबसे बड़ी मानव छवि बनाने का गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है।

बता दें कि 2017 में संयुक्त अरब अमीरात में 4130 लोगों ने एक साथ ह्यूमन राष्ट्रीय ध्वज के साथ वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है