×

चमोली त्रासदी : अब तक 71 लोगों के शव और 30 मानव अंग मिले, उमा भारती भी पहुंची

उमा भारती बोलीं, ग्रामीणों की समस्याओं को सरकार के समक्ष उठाउंगी

चमोली त्रासदी : अब तक 71 लोगों के शव और 30 मानव अंग मिले, उमा भारती भी पहुंची

- Advertisement -

चमोली। उत्तराखंड की चमोली त्रासदी (Chamoli Disaster) को हुए 20 दिन बीत चुके हैं। शवों (Dead Bodies) की तलाश के लिए रैणी और तपोवन (Tapovan) में अभी भी मलबा हटाने का काम लगातार जारी है। इस बीच आज मलबा हटा रही टीमों को एक शव कालेश्वर के पास बरामद हुआ है। चमोली त्रासदी (Chamoli Tragedy) में मृतकों की संख्या 71 पहुंच गई है। चमोली त्रासदी में अभी तक 71 शव बरामद हुए हैं। इसके अलावा घटनास्थल में अलग-अलग जगह 30 मानव अंग बरामद हुए हैं। आपको यह भी बता दें कि अभी तक 40 शवों की पहचान (Dead Bodies Identification) हो चुकी है। इसके अलावा एक मानव अंग की शिनाख्त हुई है। जिन शवों की शिनाख्त नहीं हुई है उनके डीएनए (DNA) सैंपल सुरक्षित रखे गए हैं।


यह भी पढ़ें :पश्चिम बंगाल-असम-केरल-तमिलनाडु-पुडुचेरी में चुनाव का ऐलान, पढ़ें पूरी तारीखें

एनटीपीसी महाप्रबंधक (NTPC General Manager) आरपी अहिरवार ने बताया है कि हम सुरंग में एसएफटी के काफी करीब पहुंच गए हैं। हालांकि उन्होंने बताया कि यहां भारी मात्रा में मलबा और पानी आने से काफी ज्यादा दिक्कतें टीम को आ रही है। एनटीपीसी महाप्रबंधक ने कहा कि सुरक्षा को ध्यान में रखकर ही हम आगे जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि बैराज साइट में भी धौली नदी में पत्थर को तोड़ने के लिए ब्लास्ट किया जा रहा है। यह पत्थर काफी ज्यादा बड़ा है। उधऱ, पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता उमा भारती (Uma Bharti) ने शुक्रवार को आपदा प्रभावित क्षेत्र का दौरा किया। इस दौरान उमा भारती (Uma Bharti) ने तपोवन और रैणी गांव में प्रभावित ग्रामीणों से मुलाकात की। उमा भारती ने कहा कि वो ग्रामीणों की समस्याओं को सरकार के समक्ष रखेंगी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है