×

Maan ki baat: बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच पीएम मोदी ने दिया दवाई भी कड़ाई भी का मंत्र

इस बीमारी से बचाव के लिए टीकाकरण के लिए भी प्रेरित किया

Maan ki baat: बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच पीएम मोदी ने दिया दवाई भी कड़ाई भी का मंत्र

- Advertisement -

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम मन की बात ( maan ki baat) में देश वासियों को संबोधित किया। यह पीएम के मासिक रेडियो कार्यक्रम का 75 वां संस्करण था। इस दौरान पीएम ने कोविड-19, अमृत महोत्सव, क्रिकेट , महिला शिक्षा, खेती सहित कई मुद्दों पर बात की। अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कोरोना वायरस के खिलाफ जंग लग रहे स्वास्थ्य कर्मियों के प्रति विशेष सम्मान जताया और लोगों को इस बीमारी से बचाव के लिए टीकाकरण के लिए भी प्रेरित किया।


यह भी पढ़ें: पीएम मोदी बोले – बांग्लादेश के लोगों की आजादी के लिए मैंने भी किया किया था सत्याग्रह

पीएम मोदी ने कहा कि पिछले वर्ष ये मार्च का ही महीना था, देश ने पहली बार जनता curfew शब्द सुना था। लेकिन इस महान देश की महान प्रजा की महाशक्ति का अनुभव देखिये, जनता curfew पूरे विश्व के लिए एक अचरज बन गया था। अनुशासन का ये अभूतपूर्व उदाहरण था, आने वाली पीढ़ियाँ इस एक बात को लेकर के जरुर गर्व करेगी।उसी प्रकार से हमारे कोरोना warriors के प्रति सम्मान, आदर, थाली बजाना, ताली बजाना, दिया जलाना। आपको अंदाजा नहीं है कोरोना warriors के दिल को कितना छू गया था वो, और, वो ही तो कारण है, जो पूरी साल भर, वे, बिना थके, बिना रुके, डटे रहे।इन सबके बीच, कोरोना से लड़ाई का मंत्र भी जरुर याद रखिए -‘दवाई भी – कड़ाई भी’

ये दिलचस्प है, इसी मार्च महीने में, जब हम महिला दिवस celebrate कर रहे थे, तब कई महिला खिलाड़ियों ने Medals और Records अपने नाम किये हैं।मिताली जी, हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में दस हजार रन बनाने वाली पहली भारतीय महिला क्रिकेटर बनी हैं।उनकी इस उपलब्धि पर बहुत-बहुत बधाई।आज, Education से लेकर Entrepreneurship तक, Armed Forces से लेकर Science & Technology तक, हर जगह देश की बेटियाँ, अपनी, अलग पहचान बना रही हैं

यह भी पढ़ें: बांग्लादेश पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी, शहीद स्मारक पर लगाया पौधा

#MannKiBaat के दौरान, मैंने, पर्यटन के विभिन्न पहलुओं पर अनेक बार बात की है, लेकिन, ये light house, Tourism के लिहाज से unique होते हैं। अपनी भव्य संरचनाओं के कारण Light Houses हमेशा से लोगों के लिए आकर्षण के केंद्र रहे हैं।पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए भारत में भी 71 Light Houses Identify किये गए हैं। इन सभी light house में उनकी क्षमताओं के मुताबिक Museum, Amphi-Theatre, Open Air Theatre, Cafeteria, Children’s Park, Eco Friendly Cottages और Landscaping तैयार किये जाएंगे। मैं एक Unique Light House के बारे में भी आपको बताना चाहूँगा। ये Light house गुजरात के सुरेन्द्र नगर जिले में जिन्झुवाड़ा नाम के एक स्थान में है।

अभी कुछ दिन पहले #WorldSparrowDay मनाया गया। Sparrow यानि गोरैया। कहीं इसे चकली बोलते हैं, कहीं चिमनी बोलते हैं, कहीं घान चिरिका कहा जाता है।आज इसे बचाने के लिए हमें प्रयास करने पड़ रहे हैं।मेरे बनारस के एक साथी इंद्रपाल सिंह बत्रा जी ने ऐसा काम किया है जिसे मैं, ‘मन की बात’ के श्रोताओं को जरूर बताना चाहता हूं। बत्रा जी ने अपने घर को ही गोरैया का आशियाना बना दिया है।

यह भी पढ़ें: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आर्मी अस्पताल में भर्ती, सीने में दर्द की शिकायत

आज़ादी के लड़ाई में हमारे सेनानियों ने कितने ही कष्ट इसलिए सहे, क्योंकि, वो देश के लिए त्याग और बलिदान को अपना कर्तव्य समझते थे। उनके त्याग और बलिदान की अमर गाथाएँ अब हमें सतत कर्तव्य पथ के लिए प्रेरित करे। आप देखिएगा, देखते ही देखते ‘अमृत महोत्सव’ ऐसे कितने ही प्रेरणादायी अमृत बिंदुओं से भर जाएगा, और फिर ऐसी अमृत धारा बहेगी जो हमें भारत की आज़ादी के सौ वर्ष तक प्रेरणा देगी। देश को नई ऊँचाई पर ले जाएगी, कुछ-न-कुछ करने का जज्बा पैदा करेगी।

भारत के लोग दुनिया के किसी कोने में जाते हैं तो गर्व से कहते हैं कि वह भारतीय हैं। हम अपने योग, आयुर्वेद, दर्शन, न जाने क्या कुछ नहीं है हमारे पास, जिसके लिए हम गर्व करते हैं। गर्व की बातें करते हैं साथ ही अपनी स्थानीय भाषा, बोली, पहचान, खान-पान उसका भी गर्व करते हैं:

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है