Expand

9 हजार करोड़ में भागीदार बना हिमाचल

9 हजार करोड़ में भागीदार बना हिमाचल

- Advertisement -

यशपाल शर्मा/शिमला। बाह्य शौच मुक्त में सिक्किम के बाद दूसरा और बड़े राज्यों में पहला प्रदेश बने हिमाचल को केंद्रीय ग्रामीण विकास व स्वच्छता मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन में सुधार का सुझाव दिया है। उन्होंने कहा कि बाह्य शौच मुक्त के लिए सरकार के साथ ही अधिकारी पात्र हैं, लेकिन सम्पूर्ण स्वच्छता के लिए ठोस और तरल अपशिष्ट प्रबंधन में और कार्य करना होगा। केंद्र सरकार विश्व बैंक से 9 हजार करोड़ का प्रोजेक्ट स्वच्छता के लिए ला रही है। इसमें से हिस्सा पाने का राज्य हिमाचल भी बन गया है, चूंकि बाह्य शौच मुक्त का दर्जा पाकर उसने अपना हिस्सा पक्का कर लिया है। 14वें वित्त आयोग में पंचायतों को दो लाख करोड़ राशि जारी होगी। उनका ध्येय है कि गांव उठेगा तो देश उठेगा। देश की आत्मा गांवों में ही वास करती है। 2019 तक केंद्र सरकार एक करोड़ लोगों को आवास मुहैया कराएगी, इसमें हिमाचल को भी साढ़े सात हजार आवास मिलेंगे। उन्होंने हिमाचल सरकार को सुझाव दिया कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी ठोस एवं तरल कचरा प्रबंधन करे। इसके लिए तमिलनाडू सरकार द्वारा शुरू प्रोजेक्ट का अध्ययन किया जा सकता है, उनका प्रोजेक्ट बेहतर है और स्वच्छता के साथ ही रोजगार व आय का साधन भी बना हुआ है। स्वच्छता का आह्वान राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने किया था और इसे मिशन मोड पीएम नरेंद्र मोदी ने दिया। स्वच्छता अभी आंदोलन है और इसे जन आंदोलन बनाना है। जब ये बन जाएगा तो कहीं भी खड़े होकर किसी को यूरोप की स्वच्छता की प्रशंसा नहीं करनी पड़ेगी। हम कांगड़ा, मंडी, शिमला और अन्य जगह की प्रशंसा करेंगे न कि रोम की।

  • tomarस्वच्छता के लिए विश्व बैंक से केंद्र सरकार ला रही प्रोजेक्ट
  • केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री की ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन में सुधार की सलाह

तोमर ने बताया कि बीते दिनों सीएम वीरभद्र सिंह दिल्ली आए और उन्होंने कार्यक्रम का न्यौता दिया। मैंने 28 अक्टूबर को व्यस्तता बताई और इसे नवंबर पहले सप्ताह करने की बात कही। इस पर वीरभद्र बोले कि नरेंद्र जी ये कार्यक्रम 28 को ही होगा, नहीं तो केरल दूसरा राज्य बन जाएगा। उन्हें ख़ुशी है कि स्वच्छता में आगे निकलने की प्रतिस्पर्धा अधिकारियों ही नहीं सीएम में भी चल रही है। उन्हें उम्मीद है कि बाह्य शौच मुक्त की निरंतरता हिमाचल बनाए रखेगा। उन्होंने मंदिरों और ऐतिहासिक स्थलों की स्वच्छता के लिए चलाए जा रहे 10/100 पायलट प्रोजेक्ट का भी जिक्र किया। साथ ही नमामि गंगे प्रोजेक्ट में 165 पंचायतों और 6 हजार गांव को भी स्वच्छ बनाने का संकल्प दोहराया।

sev

वीरभद्र बोले, सीवरेज सिस्टम से जोड़ेंगे हर घर

शिमला। सीएम वीरभद्र सिंह ने हिमाचल को बाह्य शौच मुक्त घोषित करने के बाद कहा कि प्रदेश के लिए यह गर्व की बात है। ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन को कारगर और इसमें अव्वल बनने के लिए हर घर को सीवरेज सिस्टम से जोड़ेंगे। इसमें भी उचित कदम उठाने को कमर कसी जाएगी। बाह्य शौच मुक्त रहने के लिए निरंतर मॉनीटरिंग होगी। प्रदेश सरकार की ओर से केंद्र की जनहित की योजनाओं में पूरा साथ दिया जाएगा। देश एक है, देश को आगे बढ़ाना है और मजबूत होना है। उन्होंने कहा कि हिमाचल पहाड़ी राज्य है, इसकी अपनी संस्कृति और विशेषताएं हैं। अगर हम अपनी सभ्यता और संस्कृति को भूल जाएं तो हम हिमाचली नहीं हैं।

  • केंद्र की जनहित की योजनाओं में देंगे पूरा साथ

cm1बीमारी से पहले करेंगे निदान
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने कहा कि कहना बहुत आसान, लेकिन करना बहुत कठिन काम है। बाह्य शौच मुक्त होने को लेकर हिमाचल और केरल में लड़ाई थी, मगर हिमाचल जीता। इसके लिए सरकार और अधिकारी बधाई के पात्र हैं। दिसंबर महीने में केंद्रीय ग्रामीण और स्वच्छता मंत्रालय व स्वास्थ्य मंत्रालय संयुक्त अभियान चलाकर बीमारी से पहले ही उसका निदान करने के उपाय निकालेंगे।

चूंकि गंदगी बीमारी का घर है। स्वच्छता सोच पर भी निर्भर है। अगर आपने सोच लिया कि खुले में थूकना नहीं है, या शौच नहीं करना या कूड़ा नहीं फेंकना है तो आपको कोई नहीं रोक सकता। इसके उन्होंने अपने मित्रों से जुड़े दो उदाहरण भी दिए। हिमाचल को स्वच्छ बनाने में उनका भी योगदान है। उनके समय ही हिमाचल पॉलीथिन मुक्त होने वाला राज्य बना था।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है