×

#AtalTunnel के बाद प्रदेश को रोपवे की सौगात, सालभर रोहतांग दर्रे को निहार सकेंगे पर्यटक

पीएम मोदी ने सराहा रोपवे का माडल, कंपनी जल्द शुरू करेगी रोपवे का निर्माण

#AtalTunnel के बाद प्रदेश को रोपवे की सौगात, सालभर रोहतांग दर्रे को निहार सकेंगे पर्यटक

- Advertisement -

मनाली। हिमाचल के विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल रोहतांग दर्रे (Rohtang Pass) पर पर्यटक सालभर बर्फीली वादियों के नजारे ले पाएंगे। इसको लेकर स्की हिमालया जल्द ही तीन चरणों में तीन-तीन किलोमीटर लंबे रोपवे का निर्माण करने जा रही है। इस 9 किलोमीटर लंबे रोपवे के बनने से गर्मियों सहित सर्दियों में भी कुल्लू मनाली के पर्यटन कारोबार को पंख लगेंगे। रोपवे के निर्माण के लिए प्रदेश सरकार ने लगभग सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली हैं। इस रोपवे के निर्माण में करीब 450 करोड़ रुपये का खर्च आएगा और रोपवे का निर्माण कार्य तीन वर्ष में पूरा किया जाएगा। वहीं, बीते रोज कंपनी ने अटल टनल के लोकार्पण पर सोलंग आए पीएम नरेंद्र मोदी को भी रोपवे (Ropeway) को लेकर तैयार किया मॉडल दिखाया। पीएम नरेंद्र मोदी ने इस रोपवे के मॉडल की खूब सराहना की। बता दें कि कंपनी रोपवे का निर्माण तीन चरणों में करेगी। पहले चरण कोठी पर्यटन स्थल (Tourist Place) रहेगा, यहां से गुलाबा को पहला और फिर गुलाबा से मढ़ी व मढ़ी से रोहतांग दर्रे तक करीब नौ किलोमीटर रोप-वे का निर्माण होगा। स्की हिमालया कंपनी के निदेशक के अनुसार रोपवे निर्माण को लेकर सारी औपचारिकताएं पूरी कर ली गई हैं। अनुमति मिलते ही जल्द सरकार से शिलान्यास करवाया जाएगा।


यह भी पढ़ें: वीकेंड पर सैलानियों से गुलजार हुई Kullu-Manali, पटरी पर लौटने लगा पर्यटन कारोबार
सैलानी सर्दियों के मौसम में ले पाएंगे बर्फबारी का आनंद

देश सहित विदेश के पर्यटकों के लिए यह रोपवे आकर्षण का केंद्र बनेगा। रोहतांग दर्रे पर सर्दियों में हर साल करीब 20 से 25 फीट बर्फ पड़ती है। ऐसे में यहां ट्रैफिक संचालन पूरी तरह से बंद हो जाता है। करीब चार माह तक यह दर्रा बंद रहता है। दिसंबर से मार्च तक रोहतांग दर्रा पर पर्यटन आवाजाही बंद रहती है। रोहतांग रोपवे में पर्यटकों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध होंगी तथा पर्यटन कारोबार बढ़ेगा।

रोपवे बन जाने से 45 मिनट में तय होगा मनाली से रोहतांग का सफर

 

 

तीन चरणों में बनने वाले इस रोपवे के पूरी तरह से तैयार हो जाने के बाद मनाली (Manali) से रोहतांग दर्रें के बीच की 50 किलोमीटर की दूरी मात्र 45 मिनट में तय कर पाएंगे। रोपवे लगने के बाद हालांकि रोहतांग दर्रा दिसंबर के बाद मार्च तक तीन माह के लिए बंद रहेगा। लेकिन इसके साथ सटा मशहूर पर्यटन स्थल मढ़ी सालभर सैलानियों के लिए खुला रहेगा। सैलानी यहां बर्फ में खेलने व साहसिक गतिविधियों का आनंद ले सकेंगे। कुल्लू-मनाली में पर्यटन कारोबार को बढ़ाने में यह रोपवे कारगर साबित होगा। हालांकि गुलाबा में बना नेचर पार्क भी सैलानियों के लिए आकर्षण का केंद्र है, लेकिन रोहतांग के लिए रोपवे के माध्यम से घूमने जाने वाले सैलानियों के लिए यह रोप वे काफी रोमांचकारी होगा।

 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है