Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,944,783
मामले (भारत)
179,349,385
मामले (दुनिया)
×

अमेरिकी संसद में Tibet को अलग देश का दर्जा देने वाला Bill पेश

अमेरिकी संसद में Tibet को अलग देश का दर्जा देने वाला Bill पेश

- Advertisement -

कोरोना संकट के बीच निर्वासित तिब्बतियों के लिए एक खबर उम्मीद लेकर आ रही है। अमेरिकी संसद के प्रतिनिधि (US Parliament Representative) स्कॉट पेरी (Scott Perry) ने तिब्बत (Tibet) को अलग और स्वतंत्र देश की मान्यता (Separate and independent country)देने के लिए अमेरिकी संसद में एक विधेयक पेश किया है। पेरी ने विदेशी मामलों की हाउस कमेटी के समक्ष अपना बिल पेश किया। इस विधेयक (Bill) को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (US President Donald Trump)की मान्यता के लिए व्हाइट हाउस भेजा गया है। पेनसिलेवेनिया के सीनेटर स्कॉट पेरी कांग्रेस के उन 32 सदस्यों में शामिल रहे हैं जिन्होंने टॉम लैंटोस के अमेरिकी विदेश मंत्री को लिखे गए उस पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं, जिसमें तिब्बत से संबंधित दो विधानों को लागू करने की मांग की गई थी।

अमेरिका-चीन के रिश्तों में बढ़ सकता है तनाव

पेरी ने अपने बिल में तिब्बत मसले पर बीजिंग पर दबाव बढ़ाने की मांग की है। कोविड-19 (Covid-19) के बीच इस समय अमेरिका और चीन (China) के संबंध पहले ही तनावपूर्ण चल रहे हैं। इसी दौरान तिब्बत को लेकर पेश किए गए विधेयक से रिश्तों में तनाव ज्यादा बढ़ सकता है। तिब्बत पर चीन के आक्रमण के बाद वर्ष 1959 में तिब्बती धर्मगुरू दलाई लामा (Dalai Lama) को अपने अनुयायियों के साथ देश छोड़ने पर मजबूर होना पड़ा था। तब से लेकर वह हिमाचल प्रदेश के मैक्लोडगंज (McLeodganj) में अस्थायी तौर पर रहते हैं। यहीं पर उनका पैलेस व मुख्य बौद्ध मंदिर है।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है