Covid-19 Update

2,01,049
मामले (हिमाचल)
1,95,289
मरीज ठीक हुए
3,445
मौत
30,067,305
मामले (भारत)
180,083,204
मामले (दुनिया)
×

अहंकार और अक्षमता के घातक मिश्रण का परिणाम है Covid-19 त्रासदी: राहुल गांधी

अहंकार और अक्षमता के घातक मिश्रण का परिणाम है Covid-19 त्रासदी: राहुल गांधी

- Advertisement -

नई दिल्ली। देश में जारी कोरोना वायरस (coronavirus) के कहर के बीच कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एक बार केंद्र सरकार के खिलाफ करारा हमला बोला है। राहुल ने आज कहा कि मोदी सरकार के घमंड और निकम्मेपन के कारण आज भारत दुनिया में कोरोना के मामलों में नंबर वन बनने की तरफ अनचाही दौड़ में तेजी से आगे बढ़ रहा है। गौरतलब है कि भारत (India) में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। दुनियाभर में कोरोना के मामले पर नजर रखने वाली वेबसाइट वर्ल्डोमीटर तथा जॉन हॉपकिंस युनिवर्सिटी के मुताबिक कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की सूची में भारत ब्रिटेन को पछाड़कर चौथे नंबर पर पहुंच गया है। देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3 लाख पार कर गई है।

यहां देखें अन्य देशों के साथ कोरोना रेस में कैसे आगे बढ़ा भारत

इस सब के बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट (Tweet) किया, ‘भारत एक गलत प्रतिस्पर्धा जीतने के लिए मजबूती से आगे बढ़ रहा है। यह भयावह त्रासदी अहंकार और अक्षमता के घातक मिश्रण का परिणाम है।’ उन्होंने ट्वीट के साथ ही एक विजुएल ग्राफ भी दिया है जिसमें भारत को कोरोना के कुल मामलों में चौथे स्थान पर दिखाया गया है।

यह भी पढ़ें: उर्दू के मशहूर शायर गुलज़ार देहलवी का Covid-19 से उबरने के 5 दिन बाद निधन

भारत और अमेरिका की सहिष्णुता हो रही गायब

इससे पहले अपनी संवाद श्रृंखला के तहत राहुल गांधी ने पूर्व अमेरिकी राजनयिक और हावर्ड यूनिर्वसिटी के अंतराष्ट्रीय कूटनीति के प्रोफेसर निकोलस ब‌र्न्स से बातचीत की। इस दौरान राहुल गांधी ने कहा है कि विचारों के खुलापन और सहिष्णुता को लेकर भारत और अमेरिका की दुनिया में बनी पहचान अब गायब हो रही है। उनके मुताबिक सहिष्णुता वास्तव में भारत के डीएनए में है लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि देश की इस मजबूत नींव को कमजोर करने वाली ताकतें खुद को राष्ट्रवादी बताने में जुटी हैं। कांग्रेस नेता ने कहा कि अमेरिका में जहां काले और गोरों के बीच रंगभेद के आधार पर खायी बढ़ी है वहीं भारत में सांप्रदायिक तौर पर बांटने का प्रयास किया जा रहा है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है