Covid-19 Update

2,06,027
मामले (हिमाचल)
2,01,270
मरीज ठीक हुए
3,505
मौत
31,653,380
मामले (भारत)
198,295,012
मामले (दुनिया)
×

अंतरिक्ष से धरती की तरफ बढ़ रही एक और मुसीबत, कुछ ही घंटे में पहुंचेगी

अंतरिक्ष से धरती की तरफ बढ़ रही एक और मुसीबत, कुछ ही घंटे में पहुंचेगी

- Advertisement -

कोरोना संकट अभी दूर हुआ नहीं कि धरती की तरफ एक और मुसीबत बढ़ रही है। धरती की तरफ एक बहुत बड़ा उल्कापिंड (Meteorite) आ रहा है जो कुछ ही घंटों में पहुंचने वाला है। इस उल्कापिंड की गति इतनी ज्यादा है कि अगर धरती पर गिरे तो कई किलोमीटर तक तबाही मचा सकता है और अगर समुद्र में गिरेगा तो बड़ी सुनामी पैदा कर सकता है। इस उल्कापिंड की गति 13 किलोमीटर प्रति सेकेंड है यानी करीब 46,500 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार। यह उल्कापिंड दिल्ली के कुतुबमीनार (Qutub Minar) से चार गुना और अमेरिका के स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी से तीन गुना बड़ा है। इस उल्कापिंड का नाम है 2010एनवाई65 है। यह उल्कापिंड 46,500 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से धरती की तरफ आ रहा है जो आज दोपहर 12.15 बजे पृथ्वी के करीब से गुजरेगा।

 


 

37 लाख किलोमीटर दूर से निकलेगा ये उल्कापिंड

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) का अनुमान है कि यह धरती से करीब 37 लाख किलोमीटर दूर से निकलेगा, लेकिन अंतरिक्ष विज्ञान में इस दूरी को ज्यादा नहीं माना जाता। हालांकि, वैसे तो धरती को इस उल्कापिंड से कोई खतरा नहीं है, लेकिन नासा के वैज्ञानिक उन सभी उल्कापिंड को धरती के लिए खतरा मानते हैं जो धरती से 75 लाख किलोमीटर की दूरी के अंदर निकलते हैं। इन तेज रफ्तार से गुजरने वाले खगोलीय पिंडों को नीयर अर्थ ऑबजेक्टस (NEO) कहते हैं। कई बार इनसे धरती को नुकसान भी होता है।

 

जून में उल्कापिंड गुजरने की यह तीसरी घटना

बता दें कि जून में उल्कापिंड गुजरने की यह तीसरी घटना है। पहला उल्कापिंड 6 जून को धरती के बगल से गुजरा था। इसका व्यास 570 मीटर था। यह धरती के बगल से 40,140 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से गुजरा था और इसका नाम था 2002एनएन4। इसके बाद 8 जून के उल्कापिंड 2013एक्स22 उल्कापिंड धरती के करीब से गुजरा था जिसकी गति 24,050 किलोमीटर प्रतिघंटा थी। यह धरती से करीब 30 लाख किलोमीटर दूर से निकला था।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है