Expand

अच्छी पहल : Mahatma Gandhi के मंदिर को जमीन दान देना चाहता है सराज का बुजुर्ग

Man wants to donate land for Gandhi temple: 100 साल के मोती राम ने डीसी को दिया जमीन दान करने का प्रस्ताव 

अच्छी पहल : Mahatma Gandhi के मंदिर को जमीन दान देना चाहता है सराज का बुजुर्ग

Man wants to donate land for Gandhi temple: वी कुमार/मंडी। सीएम जयराम ठाकुर के गृहक्षेत्र सराज के खमरादा गांव का एक बुजुर्ग अपनी चार बीघा जमीन दान करना चाहता है। लेकिन दान करने के पीछे उनकी एक शर्त भी है और वह शर्त यह है कि दान की गई जमीन पर सिर्फ महात्मा गांधी का ही मंदिर बने। इन दानी सज्जन का नाम है मोती राम। 100 वर्षीय मोती राम सीएम जयराम ठाकुर के गृह विधानसभा क्षेत्र सराज के खमरादा गांव के रहने वाले हैं। मोती राम ने महात्मा गांधी मंदिर के लिए जमीन दान करने का प्रस्ताव डीसी मंडी ऋग्वेद ठाकुर को सौंप दिया है। चलने-फिरने में असमर्थ मोती राम ने इस प्रस्ताव को देने के लिए 70 किलोमीटर का सफर तय किया। अपने गांव खमरादा से मंडी पहुंचकर डीसी को प्रस्ताव सौंपा और महात्मा गांधी का मंदिर बनवाने की गुहार लगाई। मोती राम ने बताया कि आज देश आजादी की कुर्बानियों को भूलता जा रहा है और यही कारण है कि वह अपने गांव में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का मंदिर बनवाना चाहते हैं। मोती राम कहते हैं कि महात्मा गांधी के कारण ही देश को आजादी मिली थी वरना गुलामी की जिंदगी में जो जीना संभव नहीं होता। उन्होंने बताया कि उनके गांव में उन्हें ससुराल पक्ष की तरफ से जो जमीन मिली है उसे वह महात्मा गांधी का मंदिर बनवाने के लिए दान करना चाहते हैं। यह जमीन चार बीघा बताई जा रही है।

महात्मा गांधी के साथ लाहौर में काम कर चुके हैं मोती राम

डीसी को दिए प्रस्ताव में कुछ और बातें भी लिखी गई हैं, जिनपर गौर करना संभव प्रतीत नहीं होता। लेकिन मोती राम बताते हैं कि उन्होंने महात्मा गांधी के साथ लाहौर में काम किया था। आज उनकी उम्र 100 वर्ष हो गई है लेकिन उस दौर को आज भी वह अपने दिमाग से निकाल नहीं पाए हैं कि किस प्रकार से आजादी के परवानों ने देश को स्वतंत्रता दिलाई थी। यही कारण है कि वे महात्मा गांधी का मंदिर बनवाना चाहते हैं।वहीं डीसी मंडी ऋग्वेद ठाकुर ने मोती राम की तरफ से जमीन दान को लेकर आए प्रस्ताव को आगामी कार्रवाई के लिए प्रेषित कर दिया है। बहरहाल अब मोती राम के इस प्रस्ताव पर सरकार और प्रशासन क्या निर्णय लेते हैं इसका पता आने वाले समय में ही चल पाएगा।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Advertisement
Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Advertisement

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है