×

पत्नी से परेशान पति शिकायत लेकर पहुंचा थाने, इंस्पेक्टर ने दी गायत्री मंत्र जाप की सलाह

आईजी ने दिए इंस्पेक्टर पर कार्रवाई करने के निर्देश

पत्नी से परेशान पति शिकायत लेकर पहुंचा थाने, इंस्पेक्टर ने दी गायत्री मंत्र जाप की सलाह

- Advertisement -

मेरठ। उत्तर प्रदेश की पुलिस (UP Police) हमेशा राष्ट्रीय स्तर पर चर्चाओं में रहती है। चाहे बात एनकाउंटर (Encounter) की हो या यूपी में क्राइम ग्राफ को लेकर। अब एक बार फिर ऐसा मामला सामने आया है जिससे यूपी पुलिस (Police) चर्चा में आ गई है। मामला मेरठ का है। मेरठ पुलिस मुठभेड़ करने के मामलों में पूरे यूपी (UP) में सबसे ऊपर है और यहीं से एक खबर सामने आई है जहां एक फरियादी जब पुलिस के पास अपनी शिकायत लेकर पहुंचा तो उसे गायत्री मंत्र (Gayatri Mantra) का जाप करने की सलाह इंस्पेक्टर की ओर से दी गई। यही नहीं, इंस्पेक्टर साहब ने तो परेशान व्यक्ति को हरिद्वार जाकर रहने की सलाह तक दे डाली। अब पीड़ित अपनी शिकायत लेकर आईजी के दफ्तर पहुंच गया है।


यह भी पढ़ें: इशरत जहां एनकाउंटर केस : CBI अदालत ने बरी किए तीनों पुलिस अधिकारी

पूरा मामला मेरठ के आदर्श थाने में शुमार रहे नौचंदी थाने (Nauchandi Police Station) का है। थाने में शिकायत (Complaint) लेकर आने वाले फरियादियों को चंदन का टीका लगाने और उन पर गंगाजल छिड़कने से इंस्पेक्टर प्रेमचंद शर्मा चर्चाओं में आए थे, लेकिन अब यही इंस्पेक्टर (Inspector) विवादों में घिर गए हैं। जानकारी के अनुसार एक व्यक्ति अपनी शिकायत लेकर पहुंचा। व्यक्ति अपनी दूसरी पत्नी और सौतेले बेटे से परेशान था। इस पर इस पर इंस्पेक्टर साहब ने दुखी व्यक्ति को तीन दिन हरिद्वार (Haridwar) के गायत्री आश्रम में रहकर ब्रह्म मुहूर्त में गायत्री मंत्र का जाप करने और गंगाजल का सेवन करने की सलाह दे दी। यही नहीं, यह सारी प्रक्रिया खुद इंस्पेक्टर (Inspector) साहब ने अपने हाथ से लिखी और पीड़ित को कागज थमा दिया।

 

यह भी पढ़ें: टोक्यो ओलंपिक : भारतीय दावेदार महिला वेटलिफ्टर और पुरुष पहलवान डोप टेस्ट में फेल

इसके बाद पीड़ित भी इंस्पेक्टर (Inspector) साहब की बातों का पालन करने लगा, लेकिन बात नहीं बनी और उलटा उसकी पत्नी और बेटे ने उसे तीन बार पीट दिया। इसके बाद फिर से पीड़ित थाने पहुंचा तो इंस्पेक्टर साहब ने कहा कि तुमने गायत्री मंत्र (Gayatri Mantra) का उच्चारण ठीक से नहीं किया हो। इसलिए उन्होंने दोनों पक्षों को थाने (Police Station) बुलाया और हरिद्वार जाकर कुछ समय साथ बिताने के लिए कहा। इसका बाकायदा समझौता भी लिखवाया गया। उधर, जब मामला मीडिया तक पहुंचा तो। अधिकारियों ने किरकिरी से बचने के लिए मीडिया के सामने कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया। हालांकि, पीड़ित की शिकायत पर आईजी (IG) ने मुकदमा दर्ज करने और इंस्पेक्टर (Inspector) के खिलाफ विभागीय कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं ।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है