Covid-19 Update

2,27,483
मामले (हिमाचल)
2,22,831
मरीज ठीक हुए
3,835
मौत
34,624,360
मामले (भारत)
265,482,381
मामले (दुनिया)

कभी पिता ने मारे थे आतंकी, अब पुलिस ने उसी के बेटे को ‘आतंकी’ बताकर मार दिया

आमिर को पुलिस ने एनकाउंटर के दौरान मार गिराया

कभी पिता ने मारे थे आतंकी, अब पुलिस ने उसी के बेटे को ‘आतंकी’ बताकर मार दिया

- Advertisement -

नई दिल्ली। एक वक्त था जब जब अब्दुल लतीफ मागरे हीरो हुआ करते थे। उन्होंने साल 2005 मे पत्थर से पीट पीटकर एक आतंकी को मौत के घाट उतार दिया था। जिसके लिए उन्हें भारतीय सेना (Indian Army) की तरफ से सम्मान भी मिला था। लेकिन अब जो खबर सामने आ रही है वह हिला देने वाली है।

दरअसल, सोमवार को सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच हैदरपोरा एनकाउंटर में पुलिस ने जिन चार लोगों को मार गिराया था, उसमें अब्दुल लतीफा मागरे का बेटा आमिर भी था। आज मागरे अपने बेटे की मौत पर पुलिसिया प्रक्रिया पर सवाल उठा रहे हैं। उन्होंने सरकार व प्रशासन से पूछा कि उनके बेटे की क्या गलती थी, जिस कारण उसे गोली मार दी गई। अब्दुल लतीफ मागरे के इस सवाल पर जेएंडके पुलिस ने साफ कर दिया है कि मारे गए चारों युवक आतंकियों के सहयोगी थे।

इधर, अब्दुल लतीफ मागरे ने दावा किया है कि उनका बेटा आमिर निर्दोष था। लतीफ के अनुसार उनका बेटा श्रीनगर में एक दुकान में काम करता था। लतीफ का कहना है कि आमिर के शव को अब तक प्रशासन ने नहीं सौंपा है। बेटे की मौत से दुखी पिता ने कहा कि एक समय था, जब मैं खुद आतंकियों के खिलाफ था। मैंने खुद गोलियां खाई हैं। मेरा परिवार विस्थापित है।

abdul-latif-nagre

 

यह भी पढ़ें: पंचायत का तालिबानी फरमान, मंदिर के लिए दान में नहीं दी जमीन तो कर दिया बहिष्कार

इसपर पुलिस ने जवाब में कहा कि इसका मतलब ये नहीं हो जाता है कि आपका बेटा निर्दोष था। वह आतंकियों का साथ दे रहा था। गौरतलब है कि साल 2005 में अब्दुल लतीफ मागरे ने एक आतंकी को पत्थर से मारकर मौत के घाट उतार दिया था। इसके बाद उन्हें सेना की ओर से सम्मानित भी किया गया था।

वहीं, हैदरपोरा की घटना को लेकर पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने भी सवाल उठाए हैं। उन्होंने मुठभेड़ को लेकर मंगलवार को न्यायिक जांच की मांग की थी। उन्होंने कहा, ‘यह देखकर दुख होता है कि आपने (पुलिस ने) आतंकवादियों से लड़ते हुए नागरिकों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है।’

बता दें कि श्रीनगर के हैदरपोरा इलाके में सोमवार देर शाम हुई मुठभेड़ में एक पाकिस्तानी आतंकवादी और उसके स्थानीय सहयोगी मारे गए। इसके एक डॉक्टर भी शामिल था। पुलिस ने डॉक्टर को ‘आतंकी सहयोगी’ बताया है. हालांकि, परिवार वाले ऐसा नहीं मानते हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है