Expand

सचिवालय के बाहर आंगनबाड़ी कर्मियों की हुंकार

सचिवालय के बाहर आंगनबाड़ी कर्मियों की हुंकार

- Advertisement -

शिमला। प्रदेश के आंगनबाड़ी केंद्रों में कार्यरत वर्कर और हेल्पर्ज ने अपनी मांगों को लेकर सचिवालय के बाहर कांग्रेस सरकार को ललकारा। सैकड़ों की संख्या में कर्मी पंचायत भवन से रैली निकालकर सचिवालय के बाहर पहुंचीं और हुंकार भरी। सीटू के बैनर तले महिला कर्मियों ने जोरदार नारेबाजी कर सरकार से मांगें मानने की मांग उठाई। इनके धरने के दौरान सचिवालय के बाहर कुछ देर के लिए वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। आंगनबाड़ी वर्कर्स एवम हेल्पर्स यूनियन की राज्य अध्यक्ष खिम्मी भंडारी और महासचिव राजकुमारी ने कहा कि लंबे समय से वे आन्दोलनरत हैं। उनकी मांगों को सरकार पूरा नहीं कर रही।

shimla2

ये हैं मांगे

  • हरियाणा के समान मानदेय दो
  • मानदेय में 50 फीसदी बढ़ोतरी को तुरंत लागू करें
  • सेवानिवृत्ति उम्र 65 वर्ष करें
  • सेवानिवृत्ति पर पेंशन व ग्रेच्युटी दें
  • एनएचआरएम के बकाया का भुगतान जल्द

सरकार व विपक्ष के विधायक अपने वेतन-भत्ते तो एक मिनट में बढ़ा लेते हैं, जबकि उनकी मांगें पूरी नहीं की जा रहीं। पड़ोसी राज्य हरियाणा में वर्कर को 75 सौ व हेल्पर को 4 हजार रुपये दिए जाते हैं। महाराष्ट्र व त्रिपुरा में सेवानिवृत्ति पर पेंशन भी दी जाती है। कई राज्यों में त्यौहार भत्ता भी मिल रहा है। हिमाचल सरकार वर्कर को 450 व हेल्पर को 300 रुपये दे रही है। बाकि राशि केंद्र के हिस्से से मिलती है। उन्हें भी हरियाणा की तर्ज पर मानदेय मिले। 2015-16 के बजट में सरकार ने वर्कर-हेल्पर के मानदेय में 50 फीसदी बढ़ोतरी की घोषणा की थी, उसे तुरंत लागू करें। साथ में एरियर भी दें। उन्हें सरकारी कर्मचारी घोषित करें।

shimla3सभी लगभग 38 हजार कर्मियों की सेवानिवृत्ति उम्र 65 वर्ष करें। सेवानिवृत्ति पर पेंशन व ग्रेच्युटी दें। आंगनबाड़ी केंद्र में खाली पद पर हेल्पर को वर्कर प्रमोट करें। सिरमौर व कांगड़ा में की जा रही डाइट काउंसलर की भर्ती का वे विरोध करती हैं। ईंधन बिल एक रुपये प्रति लाभार्थी दिया जाए। एनएचआरएम के बकाया रुपयों का भुगतान जल्द हो। सुपरवाइजर के खाली पद जल्द भरने पर सरकार विचार करे। धरना-प्रदर्शन के बाद प्रतिनिधिमण्डल ने सीएम वीरभद्र सिंह को ज्ञापन भी सौंपा। अगर मांगें नहीं मानी गईं तो दिसम्बर में बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है