Covid-19 Update

1,99,467
मामले (हिमाचल)
1,92,819
मरीज ठीक हुए
3,404
मौत
29,685,946
मामले (भारत)
177,559,790
मामले (दुनिया)
×

Aarushi Murder Case : आज दोपहर बाद रिहा होंगे तलवार दंपति

Aarushi Murder Case : आज दोपहर बाद रिहा होंगे तलवार दंपति

- Advertisement -

नई दिल्ली। करीब चार साल जेल की सजा काट चुके आरुषि के माता-पिता डॉक्टर राजेश और नूपुर तलवार सोमवार को दोपहर बाद करीब 2:30 बजे तक रिहा हो सकते हैं। जेल में राजेश तलवार को कैदी नंबर 9342 और नूपुर तलवार को कैदी नंबर 9343 के तौर पर जाना जाता था।

गौर हो कि सीबीआई की अदालत ने तलवार दंपति को हत्या का आरोपी मानते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी, जबकि इलाहाबाद हाई कोर्ट ने उन्हें संदेह का लाभ देते हुए बरी कर किए जाने का फैसला सुनाया था। बताया जा रहा है कि जेल में रिहाई की सारी तैयारी पहले ही हो चुकी है। करीब 1 घंटे की औपचारिकता और मेडिकल के बाद करीब 2.30 बजे तलवार दंपति जेल से रिहा हो सकते हैं। तलवार दंपति की रिहाई को ध्यान में रखते हुए उनके साथ जेल में बंद कैदियों ने आज सुबह लाइन लगा कर अपना इलाज करवाया।


गरीब बंदियों को बांटेंगे जेल में कमाया पैसा

जेल में डेंटल क्लीनिक के सेटअप में तलवार दंपति ने अहम योगदान किया है। उन्होंने तमाम डेंटल उपकरण भी जेल को मुहैया कराए हैं। इसके अलावा जेल में रहने के दौरान कैदियों के इलाज के एवज में मिलने वाला रोजना 40 रुपए मेहनताना भी नहीं लिया है। तलवार दंपति ने जेल में बिताए अपने 1417 दिनों के दौरान करीब 99 हजार रुपये कमाए थे। इसमें राजेश तलवार का अब तक बंदी के तौर पर जेल में अपनी सजा काटने के दौरान 49 हजार 520 रुपए मेहनताना बना है।

राजेश और नूपुर तलवार ने जेल में जो भी अपनी जरूरतों के समान जेल मैनुअल के हिसाब से मंगाए थे (जो कैदी बुला सकते हैं)। वो समान तलवार दंपति जेल में ही गरीब बंदियों को बांट कर जेल से बाहर जाएंगे। इसके साथ ही राजेश और नूपुर तलवार जेल में जो भी अपनी धार्मिक इतिहास और आध्यात्मिक किताबें लाए थे, वो जेल लाइब्रेरी में जेल बंदियों के लिए छोड़कर जाएंगे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है