Pathankot के Major Atul को सेना मेडल मिलने पर परिवार गौरवान्वित

Pathankot के Major Atul  को सेना मेडल मिलने पर परिवार गौरवान्वित

- Advertisement -

पठानकोट। अपने बुलंद हौसलों से अपनी जान की परवाह किए बिना दो आतंकियों को मार गिराने वाले पठानकोट के मेजर अतुल पराशर को सरकार की ओर से सेना मेडल (गैलेंटरी) अवार्ड से सम्मानित किया गया है। अतुल को ये अवार्ड 27 मई, 2016 को श्रीनगर के बारामूला में आतंकियों के साथ घंटों चले ऑपरेशन के दौरान लोहा लेने के लिए दिया गया है। लगभग छह घंटे तक चले इस ऑपरेशन में अतुल व उसके सैनिक साथियों ने बिल्डिंग में छिपे दो आतंकियों को घेर कर मौत के घाट उतारा था। अवार्ड मिलने के बाद अतुल के परिजन तथा रिश्तेदार अत्यंत गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।


  • गैलेंटरी अवार्ड मिलने पर घर में खुशी का माहौल

उल्लेखनीय है कि अतुल विभिन्न समाज सेवी संस्थाओं से जुड़े व श्री द्वारिका पुरी मंदिर के संचालक अरविंद पराशर तथा डॉ. शोभा पराशर के भतीजे हैं। जब अतुल के घर जाकर उनकी इस उपलब्धि के लिए परिजनों से बात की तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं था। अतुल के पिता दिनेश पराशर प्राइवेट कंपनी से बतौर रिटायर्ड हो चुके हैं। मां विजय पराशर सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल से बतौर अंग्रेजी की रिटायर्ड अध्यापिका हैं तथा इन दिनों विभिन्न समाज सेवी संस्थाओं से जुड़ कर समाज सेवी कार्यो में लगातार जुटी हुई हैं। उन्होंने बताया कि अतुल की शादी गत वर्ष हुई थी तथा उनका 11 माह का बेटा उदय है। अतुल ने अपनी इस उपलब्धि का श्रेय अपने माता, पिता तथा पत्नी ज्योति पराशर को दिया है। पठानकोट के सेंट जोसफ कॉन्वेंट स्कूल से दसवीं की शिक्षा प्राप्त करने के बाद प्लस वन तथा प्लस टू की शिक्षा अतुल ने एमडीके स्कूल पठानकोट से की। इसके बाद वह इंजीनियरिंग करने बेअंत कॉलेज गुरदासपुर चले गए। इंजीनियरिंग के फाइनल सेमेस्टर में सेना के पदाधिकारियों ने यूनिवर्सिटी एंट्री स्कीम (यूईएस) के तहत उसका आईक्यू चेक किया तथा सेना में भर्ती होने के लिए प्रोत्साहित किया। सेना में रुचि होने के कारण अतुल ने आगामी माह ही स्टाफ सिलेक्शन बोर्ड की परीक्षा पास की तथा उन्हें इंडियन मिलिटरी अकादमी में जाने का मौका मिला। 2010 के बैच से पास आउट होने के बाद मानों अतुल का सपना साकार हो गया। राष्ट्रीय राइफल में तैनात अतुल की यूनिट इन दिनों दिनों श्रीनगर में है। उन्होंने बताया कि आगामी माह अतुल के पठानकोट आने पर परिजनों की ओर से एक विशाल समारोह आयोजित किया जाएगा, ताकि क्षेत्र के युवा भी इससे प्रभावित होकर सेना में भर्ती हो देश सेवा की ओर अग्रसर हों।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है