प्रदूषण के लिए जिम्मेदार सीसा बनाने वाली 22 फैक्ट्रियां बंद

उत्तराखंड पर्यावरण संरक्षण एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने दिए आदेश

प्रदूषण के लिए जिम्मेदार सीसा बनाने वाली 22 फैक्ट्रियां बंद

- Advertisement -

देहरादून। उत्तराखंड के कुमांऊ क्षेत्र के ऊधमसिंह नगर जिले में बढ़ते प्रदूषण (Pollution) के लिए जिम्मेदार मानी जा रही लेड इंगट (सीसे के पिंड) बनाने वाली करीब 22 फैक्ट्रियों को बंद कर दिया गया है। ऊधमसिंह नगर जिले के काशीपुर इलाके में स्थित इन फैक्ट्रियों (Factories) को बंद करने का आदेश उत्तराखंड पर्यावरण संरक्षण एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने दिया है। स्वास्थ्य की दृष्टि से खतरनाक माने जाने वाले लेड इंगट का उपयोग बैटरियां बनाने में किया जाता है। इससे प्रदूषण फैलने के अलावा स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं भी होती हैं।

यह भी पढ़ें :-प्रदूषण फैला रहे आयरन उद्योग के खिलाफ डीसी के दर पहुंचे ग्रामीण

बोर्ड के शीर्ष अधिकारियों ने बताया कि लेड इंगट बनाने वाली ये फैक्ट्रियां पहले उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुरादाबाद क्षेत्र में थीं। वहां प्रदूषण संबंधी चिंताओं के मद्देनजर पिछले दो साल में इन्हें काशीपुर स्थानांतरित किया गया। काशीपुर में भी इनसे फैल रहे वायु प्रदूषण के चलते इनका विरोध हुआ और इन्हें बंद कर दिया गया। असंगठित क्षेत्र की ये इकाइयां देश के विभिन्न हिस्सों से खरीदी गई पुरानी बैटरियों (Old batteries) को भट्टी में पिघलाकर उनसे लेड इंगट का पुनुर्त्पादन करती थीं।

बैटरी निर्माता अग्रणी कंपनियां उनसे ये सीसे के पिंड सस्ते दामों पर खरीद लेती थीं। काशीपुर में बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी सुभाष पंवार ने बताया, ‘इन फैक्ट्रियों के बारे में शिकायतें मिलने पर हमने निरीक्षण कराया तो पता चला कि वहां प्रदूषण रोधी स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर्स (एसओपी) का पालन नहीं किया जा रहा था और वायु प्रदूषण नियंत्रण यंत्रों का भी प्रयोग नहीं हो रहा था । ये इकाइयां खतरनाक पदार्थों को भी जमीन के अंदर दबा रही थीं जिससे भूमिगत जल के भी प्रदूषित होने का खतरा था।’

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है