Covid-19 Update

1182
मामले (हिमाचल)
899
मरीज ठीक हुए
09
मौत
8,47,575
मामले (भारत)
12,724,087
मामले (दुनिया)

पहली July से चार धाम यात्रा शुरू करने की तैयारी, विरोध में तीर्थ पुरोहित महापंचायत

कंटेनमेंट जोन के लोगों को नहीं होगी धामों में दर्शन की मंजूरी

पहली July से चार धाम यात्रा शुरू करने की तैयारी, विरोध में तीर्थ पुरोहित महापंचायत

- Advertisement -

देहरादून। लंबे असमंजस के बाद आखिरकार सरकार पहली जुलाई से चारधाम यात्रा (Char dham Yatra) शुरू करने को तैयार हो गई है। राज्य के भीतर एक जिले से दूसरे जिले में लोगों को चारधाम के दर्शन की सीमित संख्या में ही अनुमति दी जाएगी। उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड के सीईओ रविनाथ रमन ने बताया कि अभी राज्य के भीतर के लोगों को ही मंजूरी दी जा रही है। इसके लिए लोगों को संबंधित धाम के जिला प्रशासन से मंजूरी लेनी होगी। इसके लिए तीनों जिला प्रशासन वेबसाइट जारी कर देंगे। स्थानीय प्रशासन से यात्रा पास जारी होने के बाद ही लोग यात्रा कर सकेंगे। अभी तक धामों से जुड़े जिलों उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली के भीतर के ही स्थानीय लोगों को ही मंजूरी दी गई थी। बद्रीनाथ धाम (Badrinath Dham) में तो पूरे जिले को भी मंजूरी नहीं थी। हालांकि अभी राज्य के कंटेनमेंट जोन वाले क्षेत्र के लोगों को धामों में दर्शन की अनुमति नहीं होगी। राज्य के लोगों को अपने स्थानीय निवासी का प्रमाण के रूप में आईडी दिखानी होगी। क्वारंटाइन किए गए लोगों को भी धाम में जाने की मंजूरी नहीं होगी। राज्य से बाहर के लोगों को किसी भी तरह की मंजूरी नहीं मिलेगी। चारधाम में लोगों को बेहद सीमित संख्या में प्रवेश (Entry) दिया जाएगा। बदरीनाथ धाम में 1200, केदारनाथ 800, गंगोत्री 600, यमुनोत्री में 400 लोगों को ही प्रवेश दिया जाएगा। अभी भी जिलों के भीतर स्थानीय लोगों के दर्शन करने की संख्या बहुत कम रही है। नौ जून से अभी केदारनाथ धाम पहुंचने वालों की संख्या 57, बदरीनाथ धाम में 213 लोग ही दर्शन को पहुंचे जबकि गंगोत्री व यमनोत्री तो कोई पहुंचा ही नहीं।


यह भी पढ़ें: शिक्षा विभाग ने तलब किया Mid Day Meal आवंटन का रिकॉर्ड, कितने बच्‍चों को मिला लाभ; मांगा ब्यौरा

तीर्थ पुरोहितों को विश्वास में लिए बिना ही फैसला लेने का आरोप

इसी बीच चार धाम देवस्थानम बोर्ड के एक जुलाई से यात्रा शुरू करने का तीर्थ पुरोहित महापंचायत ने विरोध शुरू कर दिया है। उन्होंने सरकार पर तीर्थ पुरोहितों को विश्वास में लिए बिना ही फैसला लेने का आरोप लगाया। महापंचायत का तर्क है कि अभी चारों धामों में धरातल पर किसी प्रकार की कोई व्यवस्था (Arrangement) नहीं है। ऐसे में सितंबर से पहले यात्रा को शुरू ना किया जाए। महापंचायत के पदाधिकारियों का कहना है कि सरकार ने साफ किया था कि 30 जून के बाद की स्थितियों को लेकर तीर्थ पुरोहितों से पहले बात होगी। उनका पक्ष लिया जाएगा, उसके बाद ही कोई अंतिम फैसला होगा। इसके बावजूद सरकार ने सीधे ही अपने स्तर पर फैसला ले लिया है। महापंचायत के महासचिव हरीश डिमरी ने कहा कि क्या चारों धामों में स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध हैं। क्या सरकार कोविड 19 को लेकर केंद्र सरकार की तय गाइड लाइन का पालन कराने की स्थिति में है।

इन लोगों का कहना है कि यहां ना डॉक्टर हैं, ना ही फार्मासिस्ट। गौरीकुंड से केदारनाथ और जानकी चट्टी से यमुनोत्री तक पैदल मार्ग में डंडी कंडी, घोड़ा खच्चर समेत रहने और खाने की कोई व्यवस्था नहीं है। ऐसे में सरकार किस आधार पर यात्रा शुरू करने की बात कर रही है। लोगों ने अभी तक अपने घरों, होटल, लॉज, धर्मशालाओं तक की मरम्मत, रखरखाव नहीं किया है। ऐसे में कैसे यात्रा शुरू होगी। श्री पांच मंदिर समिति गंगोत्री धाम के अध्यक्ष सुरेश सेमवाल का कहना है कि बेहतर यही होगा कि सरकार दो महीने का इंतजार करे। सितंबर शुरू होने पर यदि कोरोना संक्रमण की स्थिति सुधरती है, तो यात्रा शुरू करने पर विचार करे। फिलहाज मौजूदा हालात यात्रा शुरू किए जाने के लिहाज से बेहतर नहीं हैं। श्री केदार सभा के अध्यक्ष विनोद शुक्ला ने कहा कि यात्रा शुरू नहीं की जानी चाहिए। इससे यात्रा मार्ग से जुड़े गांवों में संक्रमण का खतरा बढ़ेगा। यात्रा मार्ग पर अभी कोई व्यवस्था नहीं है। लोग भी यात्रा को पूरी तरह तैयार नहीं है। केदार सभा इसका विरोध करेगी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

 

- Advertisement -

loading...
loading...
Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

विक्रमादित्य बार-बार जोर देकर बोले, लंच Political नहीं-पारिवारिक मिलन है

पेड़ से लटकी मिली महिला की Deadbody की हुई शिनाख्त, ऋषिकेश की थी रहने वाली

वीरभद्र के हॉली लॉज की चढ़ाई नहीं चढ़ पाए Kaul-Sukhu- बाली, देखें तस्वीरें

कोरोना संकट से निपटने को UP Govt का नया प्लान, Saturday-Sunday बंद रहेंगे बाजार और दफ्तर

अनियंत्रित Car तीन मर्तबा पलटकर घर के आंगन में पहुंची, College lecturer की गई जान

Corona Update:चंबा में 2 मामले व ऊना पहुंचा युवक ग्वालियर में निकला संक्रमित

Himachal में अब मंत्री-विधायक नहीं कर पाएंगे शिक्षकों की Transfer, जानिए क्या होगी नई प्रक्रिया

Raj Bhavan के 18 सदस्य कोरोना पॉजिटिव, Maharashtra के राज्यपाल ने खुद को किया आइसोलेट

Big B और उनके बेटे अभिषेक Corona Positive : हालत स्थिर, आइसोलेशन वार्ड में इलाज जारी

कोरोना अपडेटः Himachal में 11 नए मामले, 23 लोग हुए ठीक

Corona Breaking: मेडिकल जांच को ऊना से टांडा लाया दुराचार का आरोपी निकला पॉजिटिव

रोहतांग सुरंग का निरीक्षण करने Manali आएंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

हिमाचल में Bus किराए को लेकर क्या है सच जानिए Transport Minister की जुबानी, यहां करें क्लिक

अरुणाचल में Army का बड़ा ऑपरेशन, छह आतंकी मार गिराए, Chinese हथियार हुए बरामद

Gagret बाजार में स्कॉर्पियो ने मारी  Bike को टक्कर, दंपति Seriously Injured

loading...
Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

HP : Board

Himachal में अब मंत्री-विधायक नहीं कर पाएंगे शिक्षकों की Transfer, जानिए क्या होगी नई प्रक्रिया

ICSE की 10वीं और ISC की 12वीं परीक्षा का रिजल्ट हुआ आउट: यहां चेक करें

कल दोपहर 3 बजे घोषित होगा ICSE की 10वीं और ISC की 12वीं परीक्षा का रिजल्ट

बड़ी खबरः अब 12 को नहीं होगी D.El.Ed CET प्रवेश परीक्षा, कब होगी-जानिए

हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने TET के लिए आवेदन तिथि बढ़ाई, कल तक कर सकते हैं आवेदन

CBSE ने सिलेबस से हटाए राष्ट्रवाद, Secularism जैसे Chapters,और भी बहुत कुछ

HRD मंत्री का ऐलान: CBSE कक्षा 9 से 12वीं तक के सिलेबस को 30% तक करेगा कम

हिमाचल में B.Ed करने के इच्छुकों के लिए राहत देने वाली है ये रपट, क्लिक करें

UGC के निर्देश : सितंबर के अंत तक करवानी होंगी UG Final Semester की परीक्षाएं, और भी बहुत कुछ, जानें

Kendriya Vidyalaya: फेल नहीं होंगे 9वीं-11वीं के छात्र; बिना परीक्षा के प्रोजेक्ट वर्क के जरिए होंगे प्रोमोट

हिमाचल के स्कूलों में Morning Prayer सभा एक जैसी हो, शिक्षा बोर्ड कर रहा तैयारी

SOS अगस्त व सितंबर की परीक्षाओं के ऑनलाइन पंजीकरण की तिथियां घोषित

CBSE ने टीचर्स के लिए शुरू किए Online कोर्स: यहां देखें डीटेल्स

Himachal में अध्यापकों को 12 तक छुट्टियां; 13 से होगी Online पढ़ाई शुरू

HPU सहित प्रदेश के 17 Colleges को मिलेगा कुल 27 करोड़ का ग्रांट; जानें किसके हिस्से में कितना


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है