Covid-19 Update

2,18,314
मामले (हिमाचल)
2,12,899
मरीज ठीक हुए
3,653
मौत
33,678,119
मामले (भारत)
232,488,605
मामले (दुनिया)

Kangra में 3 से 6 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए शुरू होगा अभिनव पायलट प्रोजेक्ट

Kangra में 3 से 6 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए शुरू होगा अभिनव पायलट प्रोजेक्ट

- Advertisement -

धर्मशाला। जिला प्रशासन कांगड़ा (Kangra), सीएसआईआर-आईएचबीटी (IHBT) पालमपुर के सहयोग से पोषण मिशन के तहत एक अभिनव पायलट प्रोजेक्ट शुरू करने जा रहा है, जो जिले के आंगनबाड़ी केंद्रों में जा रहे 3 से 6 वर्ष की आयु के बच्चों में सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमी को कम करने के लिए प्रभावी होगा। इस प्रोजेक्ट का प्रस्ताव सीएसआईआर-आईएचबीटी के वैज्ञानिक डॉ. विद्याशंकर श्रीवत्सन, टाटा ट्रस्ट द्वारा पोषण मिशन के अंतर्गत कांगड़ा के लिए नियुक्त कोऑर्डिनेटर राशि सिंह एवं अतिरिक्त उपायुक्त कांगड़ा राघव शर्मा द्वारा तैयार किया गया है। राज्य सरकार आंगनबाड़ी के बच्चों को न्यूट्रिमिक्स, बिस्कुट, मीठे चावल और दलिया के रूप में पूरक पौष्टिक आहार (Nutritious Food) प्रदान कर रही है। बच्चों के पोषण का अधिकांश हिस्सा परिवार द्वारा उपयोग की जाने वाली आहार संबंधी वस्तुओं के माध्यम से आता है। इस परियोजना का औचित्य यह है कि आमतौर पर स्थानीय आहार में आयरन, जिंक, विटामिन ए, विटामिन बी12 और विटामिन सी जैसे महत्वपूर्ण सूक्ष्म पोषक तत्व नहीं होते हैं और इसलिए बच्चों में वृद्धि को बढ़ावा देने के लिए इन सूक्ष्म पोषक तत्वों के साथ भोजन को पूरक करना आवश्यक है। माता-पिता को भी सूक्ष्म पोषक तत्वों और बाल विकास में उनकी भूमिका के बारे में जागरुकता नहीं होती है।

पंचरुखी ब्लॉक की सात पंचायतों में आहार पैटर्न पर होगा सर्वेक्षण

इस समस्या को दूर करने के लिए पायलट प्रोजेक्ट में जिला कांगड़ा के पंचरुखी ब्लॉक की सात पंचायतों के 20 आंगनबाड़ी केंद्रों में 3 से 6 साल के बच्चों के पोषण गुणवत्ता और आहार पैटर्न पर सर्वेक्षण किया जाएगा। इस प्रोजेक्ट (Project) में भरमात, बनूरी, राजपुर, पारला टांडा, पंचरुखी, होल्टा और टांडा पंचायतें शामिल होंगी। इसके बाद, इन चयनित 20 आंगनबाड़ी केंद्रों से 100 बच्चों के एक लक्षित समूह को सूक्ष्म पोषक फोर्टिफाइड खाद्य पदार्थ प्रदान किए जाएंगे और माइक्रोन्यूट्रिएंट फोर्टिफिकेशन के प्रभाव का मूल्यांकन करने के लिए उनकी वृद्धि की निगरानी की जाएगी। खाद्य उत्पादों के वितरण की निगरानी और पर्यवेक्षण संबंधित क्षेत्र के बाल विकास परियोजना अधिकारी द्वारा किया जाएगा। इन बच्चों को व्यावहारिक सत्रों के माध्यम से स्वास्थ्य शिक्षा भी प्रदान की जाएगी। अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए प्रशिक्षण सत्र के दौरान माताओं को भी शामिल किया जाएगा। प्रोजेक्ट के माध्यम से छोटे बच्चों द्वारा पसंद किए जाने वाले स्वाद वरीयताओं की प्रतिक्रिया भी प्राप्त होगी, जिससे उनके द्वारा पसंद किए जाने वाले खाने को फोर्टीफिएड करके दिया जा सकेगा।

यह भी पढ़ें: आईएचबीटी पालमपुर में प्रोजेक्ट असिस्टेंट की निकली 15 वेकेंसी

इस परियोजना के लिए सीएसआईआर- आईएचबीटी द्वारा विकसित दो कम लागत वाले माइक्रोन्यूट्रिएंट फोर्टिफाइड फूड फॉर्मूलेशन का उपयोग किया जाएगा। पहला उत्पाद एक बहु-अनाज उच्च प्रोटीन मिश्रण है और दूसरा उत्पाद एक स्पिरुलिना मूंगफली बार या स्पिरुलिना समृद्ध मल्टीग्रेन ऊर्जा बार है। ये उत्पाद बहुत कम खाना पकाने वाले हस्तक्षेपों के साथ पानी में तैयार हो जाते हैं और रेडी-टू-ईट हैं। इन उत्पादों में सूक्ष्म पोषक तत्व 15 प्रतिशत से 20 प्रतिशत आरडीआई (RDI) मात्रा में उपलब्ध हैं। वे कोई कृत्रिम योजक या संरक्षक के साथ नहीं बनाए गए हैं, 100 प्रतिशत प्राकृतिक हैं और पोषक तत्व से घने हैं। यह परियोजना 6 महीने तक चलेगी और 3-6 वर्षों के बीच बच्चों की पोषण स्थिति को बेहतर बनाने में मदद करेगी। इस परियोजना को 10.60 लाख रुपये की लागत के साथ पोषण मिशन के नवाचार घटक के तहत राज्य अभिसरण समिति द्वारा अनुमोदित किया गया है। यदि पायलट प्रोजेक्ट से सकारात्मक परिणाम सामने आते हैं, तो इसे वृहद स्तर पर अपनाया जा सकता है। पोषण मिशन बच्चों और गर्भवती, स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए पोषण परिणामों में सुधार करने के लिए भारत सरकार का एक प्रमुख कार्यक्रम है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है