Covid-19 Update

2,18,202
मामले (हिमाचल)
2,12,736
मरीज ठीक हुए
3,650
मौत
33,650,778
मामले (भारत)
232,110,407
मामले (दुनिया)

सड़कों की बदहाली व कॉलेज में फीस वृद्धि को लेकर ABVP तल्ख, सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा

सड़कों की बदहाली व कॉलेज में फीस वृद्धि को लेकर ABVP तल्ख, सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा

- Advertisement -

मंडी/हमीरपुर। एबीवीपी ने कॉलेज स्तर पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन कर प्रदेश सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने का निर्णय लिया है और आगामी 7 फरवरी से 20 फरवरी तक महाविद्यालयों और एचपीयू में पर्चा वितरण, हस्ताक्षर अभियान, धरना प्रदर्शन के साथ ही संकेतिक भूख हड़ताल की जाएगी। बुधवार को विभिन्न कॉलेजों में एबीवीपी ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला। मंडी (Mandi) में पत्रकारवार्ता के दौरान एबीवीपी पदाधिकारियों ने कहा कि सीएम जयराम ठाकुर खुद हेलीकॉप्टर (Helicopter) में सफर करते हैं जबकि सड़कों की हालत बेहद खराब है। सड़कों की हालत सुधारने में सरकार विफल रही है। मूलभूत सुविधाओं को लेकर सरकार कुछ नहीं कर रही है। सड़कों के अलावा शिक्षा के क्षेत्र में भी कुछ खास नहीं हो पा रहा है।

यह भी पढ़ें: गुस्साई ABVP ने मेयर के ऑफिस में घुसकर की नारेबाजी, Ultimatum भी दिया

 

एबीवीपी (ABVP) ने सरकार से मांग की है कि मुख्य नशा माफिया पर शिकंजा कसा जाए। वहीं, एबीवीपी (ABVP) ने मंडी जिला स्थापित कलस्टर यूनिवर्सिटी को लेकर भी सवाल उठाए हैं। एबीवीपी का कहना है कि कहने को यह यूनिवर्सिटी दो साल पहले वल्लभ कॉलेज में स्थापित की जा चुकी है, लेकिन अभी तक इस यूनिवर्सिटी के नाम पर धरातल स्तर पर कुछ नहीं हो पाया है। कलस्टर यूनिवर्सिटी के वीसी को लाखों रुपए प्रति माह वेतन दिया जा रहा है, लेकिन इस यूनिवर्सिटी के लिए वह कुछ नहीं कर पा रहे हैं। एबीवीपी ने हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी से कलस्टर यूनिवर्सिटी के लिए स्टाफ स्थानांतरित करने का विरोध किया है और यहां नई भर्तियां करने का आग्रह सरकार से किया है।

 

 

हमीरपुर (Hamirpur) में जिला संयोजक अनिल ठाकुर ने पत्रकार वार्ता के दौरान कहा कि प्रदेश सरकार पर छात्रों के हितों की अनदेखी करने के आरोप भी लगाए और चेतावनी दी कि अगर सरकार का रवैया ठीक नहीं हुआ तो आंदोलन ओर उग्र किए जाएंगे। ठाकुर ने आरोप लगाया कि सरकार ने फीस वृद्धि कर गरीब छात्रों को शिक्षा से वंचित करने का प्रयास किया है और महाविद्यालयों में सुविधा के नाम पर कुछ भी नही हैं। प्रदेश सरकार व शिक्षा विभाग केवल कागजों तक ही सीमित हो कर रह गया है और धरातल पर कुछ नहीं हो रहा है। प्रदेश में सड़कों को हाल खराब हो चुका है मगर कोई सुध लेने वाला नहीं है।

एबीवीपी ने सरकार को चेतावनी दी है कि सड़क व शिक्षा का स्तर गिरता जा रहा है। यदि इन मुद्दों पर सरकार ने जल्द कोई ठोस कदम न उठाया तो आंदोलन का रास्ता अपनाया जाएगा। एबीवीपी अपने आंदोलन के तहत 7 फरवरी को पर्चा वितरण व शिक्षा मंत्री को प्राचार्य के माध्यम से ज्ञापन भेजेगा। जबकि 11 फरवरी को इकाई स्तर पर हस्ताक्षर अभियान चलाएगा। 12 फरवरी को छात्र संघ चुनाव बहाली के लिए धरना प्रदर्शन किया जाएगा। 14 फरवरी को जिला स्तर पर धरना प्रदर्शन और जिला प्रशासन के माध्यम से सीएम को ज्ञापन भेजे जाएंगे। मांगों के समर्थन में 17 व 18 फरवरी को सांकेतिक भूख हड़ताल की जाएगी। अनदेखी पर 20 फरवरी को कक्षाओं का बहिष्कार किया जाएगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

एबीवीपी सोलन इकाई ने जयराम सरकार पर साधा निशाना

सोलन। एबीवीपी सोलन इकाई के सह संयोजक शुभम राठौर ने कहा कि प्रदेश सरकार के कार्यकाल में शिक्षा व्यवस्था की स्थिती नहीं सुधरी है। छात्रों को कई परेशानियों से जुझना पड़ रहा है। प्रदेश के सीएम व शिक्षा मंत्री शिक्षा व्यवस्था सहित अन्य व्यवस्थाओं को सुदृढ़ करने मे असमर्थ साबित हो रहे हैं। एबीवीपी ने आरोप लगाया कि प्रदेश सहित जिला सोलन में सड़कों ही हालत दयनीय है व सीएम हवा में सफर कर रहे है। उन्हें जमीनी हकीकत को देखना चाहिए। उन्होंने कहा कि नौणी विश्वविद्यालय व पालमपुर विश्वि़द्यलायों मे अथाह फीस वृद्धि हो रही है। शुभम राठौर ने बताया कि प्रदेश मे शिक्षा की स्थिती दयनीय है। प्रदेश विश्वविद्यालय में जिन छात्रों ने करीब 6 माह पूर्व पुर्नमुल्यांकान के लिए आवेदन किये है। उसका परिणाम अभी तक घोषित नहीं किया गया।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है