सरकार से आर-पार की जंग को एबीवीपी तैयार, कल से होगी शुरूआत

एबीवीपी की मांगः एसएमसी भर्ती युवाओं से धोखा, हों नियमित भर्तियां

सरकार से आर-पार की जंग को एबीवीपी तैयार, कल से होगी शुरूआत

- Advertisement -

हमीरपुर/कुल्लू। एबीवीपी  प्रदेश सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने की तैयारी कर ली है और लंबे समय से शिक्षा क्षेत्र में हो रहे कामों से नाराज विद्यार्थी परिषद अब सड़कों पर उतर कर आंदोलन करेगी। हमीरपुर में मीडिया से बातचीत में एबीवीपी हमीरपुर जिला संयोजक सचिन लगवाल ने कहा कि ऊना में संपन्न हुए प्रांत अधिवेशन में आगामी दिनों में आंदोलन की रूपरेखा तैयार की गई है, जिसके तहत ही दो फरवरी को जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन करके डीसी के माध्यम से शिक्षा मंत्री को ज्ञापन सौंपे जाएंगे। सचिन लगवाल ने बताया कि एबीवीपी के द्वारा फरवरी माह में आंदोलन किए जाएंगे, जिसमें दो फरवरी के अलावा छह फरवरी को सभी जिला केंद्रों पर स्कालरशिप को लेकर प्रदर्शन होगा तो आठ फरवरी को इकाई स्तर के धरना-प्रदर्शन किए जाएंगे।
वहीं, एबीवीपी ने एसएमसी के तहत प्रदेश में हो रही भर्ती को बेरोजगार युवाओं के साथ धोखा करार दिया है। सरकार से मांग की है कि एसएमसी के तहत भर्तियां न कर नियमित भर्तियां की जाएं। यह मांग एबीवीपी के जिला सचिव रूप सिंह ने कॉलेज परिसर में मीडिया से बातचीत में की।
उन्होंने कहा कि एबीवीपी ने छात्र हितों के लिए आगामी कार्यक्रमों की रूप रेखा तैयार की है, जिसमें 10 फरवरी से 25 फरवरी तक पूरे जिला में युवा मतदाता जागरण अभियान चलाया जाएगा। सभी कॉलेज युवाओं को मतदान के लिए जागरूक किया जाएगा। उभरता भारत नई आशाएं विषय पर परिचर्चा, संगोष्ठि व भाषण कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, पर्चा वितरण व नुक्कड़ नाटक से युवाओं को मतदान के लिए प्रेरित किया जाएगा।  उन्होंने मांग की है कि छात्र संघ चुनाव सरकार बहाल करे, जिससे प्रदेश छात्र संघ चुनाव हो सकें।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने संस्कृत को दूसरी भाषा का दर्जा दिया है, जिससे प्रदेश सरकार प्रदेश में संस्कृत और खेल विश्वविद्यालय जल्द शुरू करे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में छात्रवृत्ति घोटाले की सीबीआई जांच सरकार करवाए। उन्होंने कहा कि बागवानी विश्वविद्यालय नौणी व कृषि विश्वविद्यालय पालमपुर में छात्रों से अधिक फीस बसूली जा रही है, जिसको कम किया जाए। नौणी विश्वविद्यालय में कुलपति ने अपने चहेतों को नियमों को ताक में रखकर भर्ती किया है। एबीवीपी मांग करती है कि कुलपति को बर्खास्त किया जाए।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है