×

आचार्य का संदेश, जैविक खेती से होंगे खेत सुरक्षित, वातावरण संरक्षित

आचार्य का संदेश, जैविक खेती से होंगे खेत सुरक्षित, वातावरण संरक्षित

- Advertisement -

Organic Farming : नौणी। राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने डॉ. वाई.एस.परमार वानिकी एवं बागवानी विश्वविद्यालय द्वारा उगाई तथा प्रसारित की जा रही फलों एवं फूलों की खेती के कार्य का जायजा लिया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि हिमाचल फल राज्य के रूप में विख्यात है तथा इस क्षेत्र में और अधिक कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि कीवी फल को प्रदेश के निचले क्षेत्रों में सफलतापूर्वक उगाया जा सकता है जिसका बाजार में अच्छा मूल्य प्राप्त होता है। उन्होंने कहा कि जैविक खेती से न केवल खेत सुरक्षित होंगे बल्कि वातावरण के संरक्षण में भी महत्वपूर्ण योगदान होगा।


नशे से मुक्त रखें विवि परिसर को 

इसके उपरान्त राज्यपाल ने विश्वविद्यालय में आयोजित अंतर महाविद्यालय खेल एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम के समापन अवसर पर विद्यार्थियों एवं युवा वैज्ञानिकों को सम्बोधित करते हुए आहवान किया कि कृषि क्षेत्र में पुरानी अवधारणाओं से उभर कर जैविक और प्राकृतिक खेती को वैज्ञानिक शोध के साथ आगे बढ़ाएं । उन्होंने युवा वैज्ञानिकों से कहा कि अपने-अपने क्षेत्र में जाकर उस क्षेत्र को अन्नदाता के रूप में विकसित करें और प्रधानमंत्री के अन्न उत्पादन के संकल्प को पूरा करने के लिए अपनी भूमिका निभाएं। उन्होंने विद्यार्थियों को संकल्प दिलाया कि वे विश्वविद्यालय परिसर को सभी प्रकार के नशे से मुक्त रखने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे । उन्होंने कहा कि फास्ट फूड सेहत के लिए हानिकारक है जिससे बचा जाना चाहिए।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है