×

PM पद के दावेदार आचार्य यशी बोले: Tibet की आजादी के लिए चीन से वार्ता जरूरी

आचार्य यशी ने तिब्बती समुदाय के लोगों से प्रजातन्त्र और लोकतंत्र में सहभागिता का किया आह्वान

PM पद के दावेदार आचार्य यशी बोले: Tibet की आजादी के लिए चीन से वार्ता जरूरी

- Advertisement -

धर्मशाला। तिब्बत (Tibet) की आजादी व स्वायत्ता के लिए चीन (China) से वार्ता जरूरी है, लेकिन चीन ने 2011 के बाद वार्ता करना बंद कर दिया है। यह बात निर्वासित तिब्बती संसद के उप सभापति आचार्य यशी ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कही। उन्होंने कहा कि छह दशकों से अधिक समय से तिब्बत की आजादी (Tibet’s independence) के लिए संघर्ष चल रहा है और इसके लिए चीन से वार्ता जरूरी है। उन्होंने कहा कि आगामी रविवार को निर्वासित तिब्बती संसद के चुनाव (Exile Tibetan Parliament Election) हैं। तिब्बती समुदाय के लोगों के आह्वान पर वह पीएम पद के लिए खड़े हुए हैं। उन्होंने सभी तिब्बती समुदाय के लोगों से अपने मताधिकार का प्रयोग करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि वे सभी लोगों में प्रजातन्त्र और लोकतंत्र में सहभागिता का आह्वान करते हैं। क्योंकि धर्मगुरु दलाई लामा (Dalai Lama) भी लोकतांत्रिक व्यवस्था को अपनाने को कहते हैं।


यह भी पढ़ें: Tibet निर्वासित सरकार के लिए ऐतिहासिक बना आज का दिन, अमेरिकी सीनेट ने पारित किया TPSA

उन्होंने बताया कि यह चुनाव तिब्बत की आजादी के लिए चलाए जा रहे आंदोलन को तेजी देने के लिए हैं साथ ही तिब्बत की एकता के लिए भी जरूरी हैं। उन्होंने कहा कि विश्व के 30 देशों में तिब्बतियन लोग रहते हैं। इसमें जो लोग निर्वासन में रहते है उन्हें इस चुनाव में भाग लेना चाहिए। दलाई लामा ने निर्वासन की शुरुआत से ही लोकतांत्रिक व्यवस्था (Democratic system) को अपनाने को कहा है। उन्होंने कहा कि उन्होंने 33 वर्ष भारत मे रहते हुए बनारस और शिमला में शिक्षा ली। अनेक साल तिब्बत संघर्ष में काम किया है और प्रशासनिक काम किए हैं। आचार्य यशी ने अपने घोषणा पत्र में मुख्य रूप से तिब्बत का संघर्ष, तिब्बती समाज मे स्थिरता व मुद्राकोष में बढ़ावा देना मुख्य बिंदू रखे हैं। उनका मानना है कि बिना मुद्रा के कुछ नही चल सकता, इसलिए विश्व मुद्राकोष बढ़ाना जरूरी है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Like करें हिमाचल अभी अभी का Facebook Page…. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है