Covid-19 Update

2,18,523
मामले (हिमाचल)
2,13,124
मरीज ठीक हुए
3,653
मौत
33,694,940
मामले (भारत)
232,779,878
मामले (दुनिया)

बाबरी विध्वंस केस में आडवाणी ने दर्ज कराया बयान; CBI की स्पेशल कोर्ट ने पूछे करीब सौ सवाल

बाबरी विध्वंस केस में आडवाणी ने दर्ज कराया बयान; CBI की स्पेशल कोर्ट ने पूछे करीब सौ सवाल

- Advertisement -

नई दिल्ली। वरिष्ठ बीजेपी नेता लालकृष्ण आडवाणी (Lal Krishna Advani) ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए बाबरी मस्जिद विध्वंस केस (Babri Masjid demolition case) में लखनऊ की सीबीआई (CBI) अदालत के सामने बयान दर्ज कराया। इससे पहले, बीजेपी नेता मुरली मनोहर जोशी ने गुरुवार को बयान दर्ज कराया था। गौरतलब है, बीजेपी नेता आडवाणी, जोशी, कल्याण सिंह व उमा भारती समेत 35 लोग इस मामले में आरोपी हैं। सभी 32 आरोपियों के बयान सीआरपीसी की धारा—313 के तहत दर्ज हो रहे हैं। पेशी के दौरान लालकृष्ण आडवाणी से कई सवाल पूछे गए। आडवाणी ने सारे आरोपों से इनकार किया है। बतौर रिपोर्ट्स, ‘कोर्ट में सुबह 11 बजे से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लालकृष्ण आडवाणी की पेशी हुई। पेशी के दौरान लालकृष्ण आडवाणी से 3।30 बजे तक सवाल पूछे गए। इस दौरान लालकृष्ण आडवाणी से सीबीआई की स्पेशल कोर्ट के जज ने बाबरी विध्वंस मामले में करीब सौ सवाल पूछे।’

यह भी पढ़ें: Ayodhya में राम मंदिर की नींव रखने के लिए यह ‘अशुभ घड़ी’: शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती

अदालत मामले की रोजाना सुनवाई कर रही है

अयोध्या में मस्जिद छह दिसंबर 1992 को कारसेवकों ने ढहाई थी। उनका दावा था कि जिस जगह मस्जिद थी, वहां राम का प्राचीन मंदिर हुआ करता था। राम मंदिर आंदोलन का नेतृत्व आडवाणी और जोशी ने किया था। बीजेपी नेता उमा भारती और उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम कल्याण सिंह इस मामले में अपने बयान दर्ज करा चुके हैं। अदालत मामले की रोजाना सुनवाई कर रही है। उच्चतम न्यायालय के निर्देश के अनुरूप उसे 31 अगस्त तक मामले की सुनवायी पूरी कर लेनी है। विशेष न्यायाधीश एस के यादव की अदालत में 92 वर्षीय आडवाणी के बयान दर्ज कराते समय उनके वकील विमल कुमार श्रीवास्तव, के के मिश्रा और अभिषेक रंजन मौजूद थे। सीबीआई के वकील ललित सिंह, पी चक्रवर्ती और आर के यादव भी मौजूद थे। बीजेपी नेता मुरली मनोहर जोशी ने कल अदालत से कहा था कि वह बाबरी मस्जिद ढहाए जाने के मामले में निर्दोष हैं और केन्द्र की तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने राजनीतिक बदले की भावना से उन्हें गलत तरीके से फंसाया है। उन्होंने आरोप लगाया था कि अभियोजन पक्ष की तरफ से इस मामले में पेश किये गये सबूत झूठे और राजनीति से प्रेरित हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है