Covid-19 Update

1,99,467
मामले (हिमाचल)
1,92,819
मरीज ठीक हुए
3,404
मौत
29,685,946
मामले (भारत)
177,559,790
मामले (दुनिया)
×

डेढ़ साल बाद कुष्ठ रोगियों को नसीब हुई छत, कोटला खुर्द में बनाए गए 20 आशियाने

डेढ़ साल बाद कुष्ठ रोगियों को नसीब हुई छत, कोटला खुर्द में बनाए गए 20 आशियाने

- Advertisement -

ऊना। रेलवे की भूमि से अवैध निर्माण हटाए जाने के बाद बेघर हुए कुष्ठ रोगियों (Leprosy Patients) को डेढ़ साल बाद आशियाने मिल गए हैं। डेढ़ साल कुष्ठ रोगी गर्मी, सर्दी और बरसात के मौसम में खुले आसमान के नीचे समय गुजारने को विवश थे। लेकिन जिला प्रशासन ने पहल करते हुए कुष्ठ रोगियों के करीब 20 परिवारों को बसाने के लिए लगभग 3 कनाल भूमि आबंटित की थी। इसी भूमि विभिन्न विभागों के सहयोग से कुष्ट रोगियों के लिए प्री-फैबरिकेटिड ढांचे से रहने की व्यवस्था की गई है। पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर ने आज छिन्नमस्तिका कुष्ठ आश्रय स्थल का उद्घाटन किया। नए आशियाने मिलने से कुष्ठ रोगियों के चेहरे भी खिल उठे हैं।


 

यह भी पढ़ें: शिमला : सेना के चलते ट्रक में लगी आग : जलकर राख, 8 जवान कर रहे थे सफर\

करीब डेढ़ वर्ष पूर्व हाईकोर्ट (High Court) के आदेशों के बाद रेलवे की भूमि में बनाये गए सात अवैध निर्माणों को तोड़ा गया था, जिसमें 4 मंदिर, एक गौशाला, एक सरकारी स्कूल और एक कुष्ठ आश्रम शामिल थे। अवैध कब्जे हटाए जाने के बाद सबसे ज्यादा नुकसान कुष्ठ आश्रम का ही हुआ था क्योंकि इस आश्रम में 20 के करीब परिवार रह रहे थे, जिससे यह सभी परिवार सर्दी, गर्मी और बरसात के मौसम में भी खुले आसमान के नीचे रहने को मजबूर हो गए थे। ना ही इन्हें बिजली की कोई व्यवस्था थी और ना ही पानी की।

 

यह भी पढ़ें: ऊना : ट्रैक्टर में रेत लेकर जा रहे थे मौत से हो गया सामना, 3 की गई जान

 

 

डीसी राकेश प्रजापति (DC Rakesh Prajapati) ने कोटला खुर्द के समीप कुष्ठ आश्रम के लिए भूमि आवंटित की और विभिन्न विभागों के सहयोग से करीब 45 लाख की लागत से कुष्ठ रोगियों के लिए प्री -फैबरिकेटिड ढांचा तैयार करवाया। इस ढांचे में कुष्ठ रोगियों के रहने के लिए 20 कमरे बनाये गए हैं, जबकि इसके साथ ही शौचालयों की भी व्यवस्था की गई है। प्रजापति ने बताया कि जिला में सरकारी स्तर पर पहली बार प्री-फैबरिकेटिड ढ़ांचा (Pre fabricated frame) बनाया गया है।


हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है