Covid-19 Update

1,53,717
मामले (हिमाचल)
1,11,878
मरीज ठीक हुए
2185
मौत
24,372,907
मामले (भारत)
162,538,008
मामले (दुनिया)
×

भगवान भोलेनाथ के भरोसे मणिमहेश यात्रा शुरू, लैंडस्लाइड का खतरा बरकरार 

भगवान भोलेनाथ के भरोसे मणिमहेश यात्रा शुरू, लैंडस्लाइड का खतरा बरकरार 

- Advertisement -

चंबा। लगातार बारिश और लैंडस्लाइड के कारण रविवार रात दो घंटे के लिए रोकी गई मणिमहेश यात्रा शुरू हो गई है। करीब 65 हजार से ज्यादा श्रद्धालुओं ने पवित्र डल झील में डुबकी लगाई। लैंडस्लाइड के खतरे के बावजूद भगवान भोलेनाथ के भरोसे मणिमहेश यात्रा का आगाज हो गया है। शाही स्नान का क्रम सोमवार शाम तक चलेगा।
यात्रा का तय मुहूर्त रविवार रात 8.48 पर था। लेकिन उससे पहले ही शनिवार और रविवार को दो श्रद्धालुओं की मौत के बाद प्रशासन ने लैंडस्लाइड और खराब मौसम को देखते हुए ऐहतियातन यात्रा रोक दी थी। सूत्रों केा अनुसार, चंबा-भरमौर के रास्ते में अभी भी लैंडस्लाइड का खतरा बना हुआ है। ऐसे में यात्रियों की सुरक्षा भगवान भोलेनाथ के भरोसे है। हालांकि, प्रशासन ने राहत और बचाव के लिए दल बनाए हैं, लेकिन इंतजाम के मामलों में काफी लापरवाही बरती गई है। 

नाले पर बना दी पार्किंग 

प्रशासन ने हरसर नाले पर ही पार्किंग बना दी है। अगर बादल फटने और पानी के तेज बहाव की स्थिति बनती है तो वहां खड़ी होने वाली गाड़ियों के बह जाने की आशंका है। इसी तरह भरमौर के भरमाणी में भी लैंडस्लाइड के खतरे को देखते हुए प्रशासन ने कोई ऐहतियाती कदम नहीं उठाए हैं।

14 किमी की खड़ी चढ़ाई 

मणिमहेश यात्रा के दौरान 14 किमी की चढ़ाई करने के बाद पवित्र के झील के पास पहुंचा जा सकता है। 8 से 10 घंटे तक खड़ी चढ़ाई करने के बाद झील पर पहुंचते हैं। यहां रास्ते में अस्थायी दुकानें हैं, जहां पर रहने खाने-पीने की व्यवस्था रहती है। रास्ते में लंबर भी लगे होते हैं।



- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है