Covid-19 Update

1,54,664
मामले (हिमाचल)
1,15,610
मरीज ठीक हुए
2219
मौत
24,372,907
मामले (भारत)
162,538,008
मामले (दुनिया)
×

हाईकोर्ट के दखल के बाद रिहा होगा आजीवन कारावास की सजा काट रहा कैदी

हाईकोर्ट के दखल के बाद रिहा होगा आजीवन कारावास की सजा काट रहा कैदी

- Advertisement -

शिमला। प्रदेश हाईकोर्ट के दखल के बाद आजीवन कारावास की सजा काट रहे सरवन सिंह को राज्य सरकार ने रिहा करने का फैसला लिया है। मुख्य न्यायाधीश संजय करोल व न्यायाधीश अजय मोहन गोयल की खंडपीठ ने राज्य सरकार को कानून के अनुसार उन्हें तुरंत रिहा करने के लिए कहा।
प्रदेश हाईकोर्ट को गृह विभाग की ओर से बताया गया कि प्रार्थी सरवन कुमार के अलावा चंद्र मोहन, रणजीत सिंह, विमल सिंह, मोहन सिंह, मंसाराम, कृष्ण कुमार , हंसराज, प्रेम सिंह , सुरजीत सिंह, दिनेश्वर ओझा और रामदास को भी रिहा करने बाबत राज्य सरकार की ओर से स्वीकृति प्रदान कर दी गई है। जरूरी औपचारिकताएं पूरी करने के पश्चात इन लोगों को रिहा किया जा सकता है। हाईकोर्ट को लिखे पत्र के अनुसार प्रार्थी 16 अप्रैल 1998 से आजीवन कारावास की सजा काट रहा है । प्रार्थी ने राज्य सरकार द्वारा आजीवन कारावास की सजा काट रहे कैदियों की रिहाई पर निर्णय लेने के लिए गठित कमेटी के समक्ष पहले भी गुहार लगाई थी। लेकिन, उस पर सरकार ने कोई फैसला नहीं लिया। प्रार्थी की उम्र 68 वर्ष है और एक गरीब परिवार से संबंध रखता है। पिछले 20 वर्षों से कारागार में रहने के कारण परिवार संघर्षपूर्ण जीवन जीने के लिए विवश है।
प्रार्थी के अलावा अन्य कोई भी कमाने वाला नहीं है और न ही आय का कोई नियमित साधन है। पिछले 20 वर्षों से रिहायशी मकान की  मरम्मत ना होने के कारण मकान गिर चुका है। अपने पुश्तैनी भूमि पर लंबे समय से कृषि कार्य ना होने के कारण उपजाऊ भूमि भी बंजर हो चुकी है। प्रार्थी ने इन सभी तथ्यों के दृष्टिगत प्रदेश उच्च न्यायालय से  रिहाई की गुजारिश की थी। हाईकोर्ट ने इस मामले में  संज्ञान लेने के पश्चात  राज्य सरकार को कार्रवाई अमल में लाने के आदेश जारी किए थे। राज्य सरकार ने 10 अगस्त 2018 को प्रार्थी को  जेल से रिहा करने बाबत नीतिगत फैसला ले लिया है।आदेश जारी कर दिए हैं।


- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है