Covid-19 Update

2,17,615
मामले (हिमाचल)
2,12,133
मरीज ठीक हुए
3,643
मौत
33,594,803
मामले (भारत)
231,514,397
मामले (दुनिया)

भारत के बाद China ने भी दिया Trump के मध्यस्थता ऑफर पर जवाब; कहा- तीसरे की जरूरत नहीं

भारत के बाद China ने भी दिया Trump के मध्यस्थता ऑफर पर जवाब; कहा- तीसरे की जरूरत नहीं

- Advertisement -

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच जारी सीमा विवाद को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के मध्यस्थता कराने वाले प्रस्ताव पर भारत के बाद चीन (China) का भी बयान सामने आया है। चीनी विदेश मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि भारत और चीन आपस में किसी भी विवाद को हल कर सकते हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा है कि भारत और चीन किसी भी आपसी विवाद को बातचीत के दमपर हल कर सकते हैं। ऐसे में किसी तीसरे देश की इस विवाद में जरूरत नहीं है। गौरतलब है कि इससे पहले भारत ने भी अमेरिका के ऑफर को ठुकरा दिया था।

मुद्दे को शांति से सुलझाने के लिए हमारी चीन से बातचीत जारी है

भारत-चीन (India-China) गतिरोध के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के मध्यस्थता प्रस्ताव पर भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा था कि मुद्दे को शांति से सुलझाने के लिए हमारी चीन से बातचीत जारी है। वहीं, उन्होंने भारत-चीन सीमा की घटनाओं पर कहा कि हमारे सैनिकों ने सीमा प्रबंधन के लिए बहुत ही ज़िम्मेदाराना रवैया अपनाया है।

यब ही पढ़ें: दिल्ली : LG Office में चार लोग व मेयर हाउस में सिक्योरिटी गार्ड निकला Corona Positive

गौरतलब है कि दोनों देशों के बीच काफी लंबे समय से जारी इस विवाद को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इसे सुलझाने के लिए मध्यस्थता का प्रस्ताव देते हुए ट्वीट किया था कि भारत और चीन अगर चाहें तो अमेरिका दोनों के बॉर्डर विवाद को खत्म करवा सकता है और आपसी सुलह करवा सकता है।

चीन के साथ विवाद को लेकर पीएम मोदी ‘अच्छे मूड में नहीं’ हैं

वहीं बाद में ट्रंप ने अपने एक अन्य ट्वीट में कहा था कि चीन के साथ ‘बड़े विवाद’ को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ‘अच्छे मूड में नहीं’ हैं। बकौल ट्रंप, ‘दोनों देशों के पास मज़बूत सेना है, भारत खुश नहीं है और शायद चीन भी नहीं।’ बता दें कि मई महीने की शुरुआत से ही लद्दाख में भारत और चीन के सैनिक आमने-सामने हैं। चीन की ओर से लद्दाख के पास सैनिकों की संख्या बढ़ाकर 5000 के करीब कर दी गई, साथ ही बेस बनाने की खबरें भी आईं। तभी से दोनों देशों में तनाव जारी है, जवाब में भारत ने अभी लद्दाख में सैनिकों की संख्या को बढ़ाया है और कदम पीछे ना हटने की बात कही है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है