- Advertisement -

दिल्ली, हरियाणा और यूपी में सिगरेट से ज्यादा प्रदूषण से जा रही हैं जानें

ICMR की स्टडी में हुआ खुलासा

0

- Advertisement -

नई दिल्ली।दिल्ली, हरियाणा और यूपी में सिगरेट के धुंए के बजाय वायु प्रदूषण से ज्यादा जानें जा रही हैं। पिछले साल तंबाकू के इस्तेमाल के मुकाबले वायु प्रदूषण से लोग अधिक बीमार हुए और हर आठ में से एक व्यक्ति ने अपनी जान गंवाई। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) की नई स्टडी में यह खुलासा हुआ है।

स्टडी में यह भी कहा गया है कि हवा के अत्यंत सूक्ष्म कणों-पीएम 2.5 के सबसे ज्यादा संपर्क में दिल्लीवासी आते हैं। उसके बाद उत्तर प्रदेश एवं हरियाणा का नंबर आता है।इसमें कहा गया कि 2017 में करीब 12.4 लाख मौतों के पीछे वायु प्रदूषण वजह थी। साथ ही, इसमें वायु प्रदूषण को देश में होने वाली मौतों के पीछे की वजहों में से सबसे बड़ा बताया गया है।

बुजुर्गों की जान आफत में

पिछले साल वायु प्रदूषण के कारण जिन 12.4 लाख लोगों की मौत हुई थी उनमें आधे से अधिक की उम्र 70 से कम थी।इसमें कहा गया कि भारत की 77 प्रतिशत आबादी घर के बाहर के वायु प्रदूषण के उस स्तर के संपर्क में आई जो सुरक्षित सीमा से ऊपर था। घर के बाहर के प्रदूषण का स्तर खास कर उत्तर भारत के राज्यों में अधिक था। यह स्टडी लांसेट प्लैनेटरी हेल्थ पत्रिका में प्रकाशित हुई है। स्टडी के अनुसार, प्रति एक लाख लोगों में 49 लोगों को फेफड़ों के कैंसर की वजह वायु प्रदूषण है, तो 62 लोगों में इसकी वजह तंबाकू है।

 

- Advertisement -

Leave A Reply