Covid-19 Update

2,04,887
मामले (हिमाचल)
2,00,481
मरीज ठीक हुए
3,495
मौत
31,329,005
मामले (भारत)
193,701,849
मामले (दुनिया)
×

अजित डोभाल बोले – आतंकियों को खत्म करने के बाद अगला निशाना आतंकियों की विचारधारा

अजित डोभाल बोले – आतंकियों को खत्म करने के बाद अगला निशाना आतंकियों की विचारधारा

- Advertisement -

नई दिल्ली। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई पर जोर दिया और बताया कि किस तरह पाकिस्तान (Pakistan) भारत के खिलाफ आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है। सोमवार को नई दिल्ली में NIA से जुड़े एक कार्यक्रम में अजित डोभाल ने कहा कि पाकिस्तान ने आतंकवाद को अपने सिस्टम का हिस्सा बना लिया है, जिसका इस्तेमाल वह भारत के खिलाफ कर रहा है। डोभाल ने कहा कि हम आतंकियों को खत्म करने में सफल हो रहे हैं, लेकिन अब हमारा अगला निशाना आतंकियों की विचारधारा को खत्म करना है।

यह भी पढ़ें :-कश्मीर में 70 दिन बाद आज बहाल होगी पोस्टपेड मोबाइल फोन सेवा

पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए अजित डोभाल (Ajit Doval) ने कहा कि भारत में जो आतंकवाद फैलाया जा रहा है वो स्टेट स्पॉन्सर है, जिसमें सत्ता ही आतंकियों को बचाने का काम करती है। पाकिस्तान ने आतंकवाद को अपनी सिस्टम का हिस्सा बना लिया। पाकिस्तान में हर आतंकी केस को भी सामान्य केस की तरह देखा जाता है। पाकिस्तान सोचता है कि अपने इरादों को पूरा करने के लिए आतंकवाद सस्ता रास्ता है, जो सामने वाले को अधिक नुकसान पहुंचाता है। NSA अजित डोभाल ने कहा कि आतंकवाद पर कई बार बातें हुई हैं, हर कोई आतंक के खिलाफ 3 दशक से लड़ रहा है। आतंकवाद से लड़ना हर किसी की सोच में है, लेकिन आप आतंकवाद से सीधा नहीं लड़ते हैं क्योंकि आप सिर्फ आतंकियों को मारकर, हथियारों को खत्म कर, फंडिंग को रोकने पर ध्यान लगा रहे हैं और इसे ही लड़ाई का हिस्सा मान रहे हैं।



अजित डोभाल बोले कि जब लोगों में आतंकवाद का डर बढ़ता है तो सरकार की जिम्मेदारी बनती है कि वो इसके खिलाफ लड़ाई लड़ें। उन्होंने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ने के लिए काफी बातें जरूरी हैं, सबसे पहले जानना जरूरी है कि आतंकी कौन है, उसे पैसा कहां से मिल रहा है, कौन उसकी मदद कर रहा है। आतंकवाद और आतंकी को जानना जरूरी है। इसके बाद हमारी कोशिश एक्शन की होनी चाहिए, जिसमें उसे कमजोर करना, पैसों को रोकना, हथियारों को रोकना जरूरी है। NSA ने कहा कि इतना ही काफी नहीं है, हमें कानून के मुताबिक भी काम करना होता है। आतंक के खिलाफ भूत और वर्तमान की लड़ाई हो रही है, लेकिन उसके भविष्य को खत्म करना जरूरी है। उसकी विचारधारा पर चोट करना जरूरी है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है