Covid-19 Update

2,16,430
मामले (हिमाचल)
2,11,215
मरीज ठीक हुए
3,631
मौत
33,380,438
मामले (भारत)
227,512,079
मामले (दुनिया)

ऊना की इस पंचायत ने स्वच्छता अभियान को दिए नया आयाम, जीते कई Award

ऊना की इस पंचायत ने स्वच्छता अभियान को दिए नया आयाम, जीते कई Award

- Advertisement -

ऊना। सरकार की योजनाएं धरातल पर उतरकर स्थानीय निवासियों का जीवन स्तर सुधारने की दिशा में लगातार मददगार सिद्ध हो रही है। जिला ऊना की अजौली पंचायत ने स्वच्छता अभियान (Cleanliness campaign) को नया आयाम देकर कई पुरस्कार अपने नाम किए हैं। अजौली जिला की ऐसी पहली पंचायत बन गई है, जहां गीले व ठोस कचरे का पूरी तरह से निपटारा हो रहा है। पंचायत के प्रतिनिधियों के प्रयासों तथा स्थानीय निवासियों की सहभागिता से आज अजौली में हर तरफ स्वच्छता की चकाचौंध दिखती है। पंचायत के 415 घरों से कूड़ा एकत्र करने के लिए कर्मचारियों की नियुक्ति की गई है, जो कूड़ा रिक्शा में ढो कर कूड़ा संयंत्र तक पहुंचाते हैं। यहां कूड़े को तीन भागों में अलग-अलग किया जाता है। सब्जियों व फलों के छिलके आदि को अलग रखा जाता है, प्लास्टिक का सामान अलग रखा जाता है तथा बायो-मेडिकल वेस्ट को अलग किया जाता है।

यह भी पढ़ें: रायजादा का आरोप- निजी क्लीनिक भी चला रहे Una Hospital में तैनात डॉक्टर

किचन से निकलने वाले कूड़े को कंपोस्ट मशीन (Compost machine) में डाला जाता है, जिसकी क्षमता 150 किलो ग्राम प्रतिदिन है और प्रतिदिन इससे 15 किलो उत्तम गुणवत्ता की कंपोस्ट खाद तैयार होती है। वहीं एकत्र किए गए कूड़े से निकले प्लास्टिक के सामान को मशीन में डालकर उसके छोटे-छोटे टुकड़े किए जाते हैं और इस प्रकार इन प्लास्टिक के टुकड़ों को बद्दी में प्लास्टिक की रिसाइकलिंग करने वाली फैक्ट्रियों को बेच दिया जाता है, जिससे पंचायत को आय प्राप्त होती है। पंचायत के बायो मेडिकल वेस्ट को बिजली से चलने वाली मशीन (इंसीनेटर) में डालकर उसका निपटारा किया जाता है।

 

जिला प्रशासन की मदद से स्थापित किया संयंत्र

कूड़ा संयंत्र (Waste plant) के बारे में पंचायत प्रधान प्रवीण कुमारी ने कहा कि जिला प्रशासन ऊना की मदद से उन्हें संयंत्र को स्थापित करने में ज्यादा दिक्कत नहीं हुई लेकिन लोगों की मानसिकता बदलने की दिशा में अधिक काम करना पड़ा। इसके लिए पंचायत प्रतिनिधियों, महिला मंडलों, युवक मंडलों व रामलीला समिति की मदद से जागरुकता अभियान छेड़ा गया। स्थानीय निवासियों को स्वच्छता व कूड़ा संयंत्र के महत्व के बारे में बताया गया, इसके लिए ग्रामीण विकास के अधिकारियों ने सभी हितधारकों को हिमाचल प्रदेश में सफलतापूर्वक कूड़ा संयंत्र का संचालन करने वाली आईमा पंचायत की कार्यप्रणाली भी दिखाई। इसके लिए उन्हें आईमा पंयाचत ले जाया गया, जिसके बाद अजौली में यह काम सफलतापूर्वक शुरू हो गया। प्रवीण कुमार ने कहा कि ग्राम पंचायत अजौली में घरों से निकलने वाले पानी की निकासी की व्यवस्था पहले से ही थी। उनसे पूर्व में प्रधान रहे संदीप द्विवेदी के कार्यकाल में घरों से निकलने वाले पानी का निपटारा करने के लिए 20 लाख रुपए खर्च किए गए थे। गंदे पानी को गांव के एक ऐसे तालाब में लाया जा रहा है, जिसका वर्षों से कोई प्रयोग नहीं कर रहा था।

 

20 लाख रुपए से लगाया कूड़ा संयंत्र

डीसी ऊना संदीप कुमार ने कहा कि ग्राम पंचायत अजौली (Gram Panchayat Ajoli) में ठोस कूड़ा संयंत्र लगाने पर 20 लाख रुपए खर्च किए गए। शैड बनाने पर 6 लाख रुपए और 12.50 लाख रुपए तीन मशीनों की खरीद पर खर्च किए गए। इसके अलावा हर परिवार को हरे व नीले कूड़ादान प्रदान करने के लिए 2.5 लाख रुपए व्यय किए गए, ताकि हर घर गीले व सूखे कूड़े को अलग-अलग इकट्ठा करे। कूड़े की ढुलाई के लिए लगभग 47 हजार रुपए से तीन रिक्शा खरीदे गए। उन्होंने कहा कि कूड़ा संयंत्र लगने के बाद पंचायत की साफ-सफाई व्यवस्था में बड़ा सुधार आया है और परिणामस्वरूप कई पुरस्कार पंचायत ने जीते हैं। वर्ष 2013 में निर्मल ग्राम पुरस्कार के तहत पंचायत को 10 लाख का इनाम मिला और 2016 में महर्षि वाल्मीकि संपूर्ण स्वच्छता पुरस्कार के तहत अजौली को 5 लाख का इनाम प्रदान किया गया। इसके अलावा वर्ष 2018 में भी स्वच्छता के लिए अजौली पंचायत को 1 लाख रुपए प्रदान किए गए।

 

सभी विकास खंडों में बनेंगे कूड़ा संयंत्र

ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार स्वच्छता को प्राथमिकता दे रही है। साफ-सफाई से जहां बीमारियों का खतरा कम होता है, वहीं लोगों का स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है। उन्होंने कहा कि अजौली मॉडल पर जिला के सभी विकास खंडों में कूड़ा संयंत्र लगाए जा रहे हैं। मुच्छाली व गगरेट पंचायतों में कूड़ा संयंत्र लगाने के लिए धनराशि जारी कर दी गई है। जल्द ही इन्हें भी पूरा कर लिया जाएगा।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है