Covid-19 Update

58,777
मामले (हिमाचल)
57,347
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,123,619
मामले (भारत)
114,991,089
मामले (दुनिया)

लुहाखर पंचायत में अब नहीं परोसी जाएगी शराब, 500 से 1000 रुपये होगा जुर्माना

लुहाखर पंचायत में अब नहीं परोसी जाएगी शराब, 500 से 1000 रुपये होगा जुर्माना

- Advertisement -

सुंदरनगर। मंडी जिला के विकास खंड बल्ह की लुहाखर पंचायत में महिला दिवस पर एक कार्यक्रम आयोजित किया गया है। इसमें एक ऐतिहासिक फैसला लिया गया, जिस में पंचायत में शराब पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा दिया गया है। पंचायत में सार्वजनिक स्थानों न ही अब शराब परोसा जाएगा और न ही बीड़ी सिगरेट सहित नशे की कोई सामग्री प्रयोग होगी और न ही कोई सार्वजनिक स्थानों पर ताश खेल सकता है। इसकी अवहेलना करने पर अव संबंधित व्याक्ति को 500 से 1000 रुपये जुर्माना भरना पड़ेगा। यह फैसला लुहाखर पंचायत की महिला मंडल की आम सभा की बैठक में महिलाओं द्वारा सर्वसम्मति से लिया। आप को बता दें कि लुहाखर पंचायत हिमाचल प्रदेश की दूसरी ऐसी पंचायत बन गई है, जिसमें शराब व नशे की कोई सामग्री प्रयोग होगी।

  •  न ही बीड़ी सिगरेट सहित नशे की कोई सामग्री होगी प्रयोग और ताश भी नहीं खेल सकते 
  • महिला दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में  शराब पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने का प्रस्ताव मंजूर
  • देवी-देवताओं के मंदिर  में भी अब पूजा के दौरान शराब की धार की जगह चढ़ेगा घी

इससे पहले सराजघाटी की थरजून पंचायत के  ग्रामीणों द्वारा शुरू की गई मुहिम की पुरे प्रदेश में सराहना हो रही है तो दूसरी तरफ अब लुहाखर पंचायत में भी  यह नियम लागू हो गया है। स्थानीय पंचायत के प्रधान बशी धर की  अध्यक्षता में आयोजित आम सभा की बैठक में पंचायत के विकास के लिए कई अहम फैसले लिए गए। पंचायत में शादी विवाह सहित किसी भी समारोह में अब कोई भी व्याक्ति शराब न  ही पी सकता है और न ही परोस सकेगा। ऐसा करने पर उसे 500 से 1000 रुपये जुर्माना भरना पड़ेगा। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि प्रसिद्ध देवी-देवताओं के मंदिर  में भी अब पूजा के दौरान शराब की धार की जगह भविष्य में घी चढ़ाया जाएगा।

 पंचायत के इस फैसले से पूजा के दौरान शराब चढ़ाने की सदियों से चली आ रही परंपरा टूटेगी और नशा मुक्ति की ओर एक नई पहल होगी। पंचायत में शराब पर पाबंदी लगाने का प्रस्ताव महिला मंडल की प्रधान सुनीता देवी व लुहाखर पंचायत के प्रधान बशी धर ने रखा, जिस पर  बैठक में मौजूद सदस्यों ने सहमति जताकर सर्वसम्मति से पारित कर दिया।उपायुक्त मंडी को भेजी गई प्रस्ताव की कॉपी पंचायत प्रधान बशी धर ने की पुष्टि करते हुए बताया की क्षेत्र में फेल रहे नशे के जाल से युवा पीढ़ी को दूर रखने के लिए यह फैसला लिया गया है।

उन्होंने इसके लिए पंचायतवासियों का आभार प्रकट किया है और उन्होंने बताया की इस फैसले से लोगों में ख़ुशी की लहर है। उन्होंने कहा की अगर कोई भी व्यक्ति इस फैसले की बार-बार उल्ंलघना करता है तो उपायुक्त  मंडी को शिकायत कर उस व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। वहीं, उन्होंने कहा की खंड विकास अधिकारी सिकंदर के माध्यम से डीसी मंडी को प्रस्ताव की कॉपी भी भेज  दी गई है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है