Covid-19 Update

1,58,472
मामले (हिमाचल)
1,20,661
मरीज ठीक हुए
2282
मौत
24,684,077
मामले (भारत)
163,215,601
मामले (दुनिया)
×

इस चट्टान को एक हाथ से हिला दिया तो समझो सारे मनोरथ हुए पूरे

पांडव शिला पर दूर से फेंका गया कंकड़ अगर टिक जाए तो मनोकामनाएं होती हैं पूरी

इस चट्टान को एक हाथ से हिला दिया तो समझो सारे मनोरथ हुए पूरे

- Advertisement -

मंडी। अगर सच्चे मन के भगवान को याद करें तो उनके दर्शन हो ही जाते हैं। कुछ यही मामला मंडी जिला मुख्यालय (Mandi District) से 82 किलोमीटर दूर सराज घाटी के खूबसूरत स्थान जंजैहली के पास स्थित पांडव शिला (Pandava Shila) के साथ भी है। इस चट्टान को अगर आपने सच्चे दिल से एक हाथ से हिला दिया तो समझें आपके सारे मनोरथ पूरे हुए, लेकिन अगर दिल सच्चा न हो तो आप पूरी ताकत लगाकर दोनों हाथों से भी चट्टान को नहीं हिला सकते।



 

 

 

जंजैहली घाटी के प्रसिद्ध शक्तिपीठ शिकारी देवी जाने वाले श्रद्धालु पांडव शिला का दर्शन जरूर करते हैं। ऐसा माना जाता है कि इसके दर्शन के बिना यात्रा अधूरी है। पांडव शिला पर दूर से कंकड़ फेंकने की प्रथा भी है। मान्यता है कि यदि फेंका गया कंकड़ शिला पर जाकर टिक जाए तो मनोकामना पूरी हो जाती है। निस्संतान महिलाएं संतान प्राप्ति की इच्छा से शिला पर कंकड़ फेंकती हैं और यदि कंकड़ उपर जाकर टिक जाए तो उन्हें संतान का वरदान मिल जाता है।

 

 

यह है पांडव शिला की कहानी

पांडव शिला के बारे में एक रोचक दंत कथा प्रचलित है। इसके अनुसार जब पांडवों और कौरवों के बीच युद्ध के बाद पांडवों से कहा गया कि युद्ध में मारे गए लोगों की हत्या का पाप धोने के लिए उन्हें वृंदावन जाकर नंदी बैल के दर्शन करने होंगे। पांडव जब वृंदावन पहुंचे तो पता चला कि नंदी वहां से निकल चुके हैं।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

पांडव नंदी बैल का पीछा करते करते हिमाचल प्रदेश के कुंतभयो, रिवालसर, कमरूनाग होते हुए इस क्षेत्र में पहुंच गए। पांडव जब खाना खा रहे थे तो उपर पहाड़ी पर बसे एक गांव से एक लाश बाखली खड्ड के किनारे जलाने के लिए लाई गई। पांडवों ने लाश को देखकर खाना छोड़ दिया। उस समय महाबली भीम के हाथों में सत्तू का पेड़ा था। अचानक लाश को देखकर खाना छोड़ने पर वह पेड़ा भी भीम से छूट गया, जो बाद में पांडव शिला कहलाया।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है