Expand

आतंकियों और अलगाववादियों को एक ही चश्मे से देखने की जरूरत

आतंकियों और अलगाववादियों को एक ही चश्मे से देखने की जरूरत

- Advertisement -

कश्मीर मामले पर ऑल पार्टी बैठक में उठा मुद्दा

नई दिल्ली। कश्मीर मुद्दे को लेकर दिल्ली में हुई ऑल पार्टी की बैठक में कोई ठोस नतीजा नहीं निकल सका है। इस बैठक में एक तरफ जहां सिविलयन एरिया में सशस्त्र बल विशेषाधिकारी अधिनियम अफस्पा की समीक्षा की बात उठी, वहीं कुछ पार्टियों ने कश्मीर में अर्धसैनिक बलों और सैनिकों की संख्या घटाने का भी सुझाव दे डाला। मीटिंग में गृह मंत्रालय ने ऑल पार्टी डेलीगेशन में शामिल नेताओं के सुझावों को लेकर एक प्रेजेंटेशन भी दिया। कुछ पार्टी नेताओं का ये भी मानना है कि महबूबा मुफ्ती की कश्मीर हिंसा से निपटने में नाकाम रही। इससे पहले केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने कश्मीर के अलगाववादी नेताओं की सभी सुविधाएं वापस लिए जाने के मुद्दे पर कहा है कि आतंकियों और अलगाववादियों को एक ही चश्मे से देखने की जरूरत है, उनके खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होना चाहिए। मोदी सरकार अलगाववादियों के खिलाफ सख्ती दिखाने के मूड में दिख रही है।
syedहम सभी पक्षों से बात करने को तैयार: जितेंद्र सिंह
पीएम कार्यालय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि बैठक में सभी पार्टियों ने सहमति जताई की सुरक्षा पर कोई समझौता नहीं होगा। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय संप्रभुता पर कोई समझौता नहीं होगा। सभी पार्टियों ने लोगों से ये अपील भी की है कि वो हिंसा के रास्ते पर न चले। जितेंद्र सिंह ने कहा कि हम सभी पक्षों से बात करने को तैयार हैं।
घाटी में दो महीने में मारे गए 74 लोग
दो महीने से घाटी में कायम अशांति के दौरान कम से कम 74 लोग मारे जा चुके हैं और करीब 12,00 लोग घायल हुए हैं। घाटी में इस तरह की हिंसा इससे पहले 2010 में हुई थी। तब 120 लोग पुलिस और अर्धसैनिक बलों की गोलियों से मारे गए थे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है